Monday , December 6 2021
Breaking News
Home / राजनीति / पुष्यमित्र उपाध्याय ने लगाया प्रियंका गांधी पर कविता चोरी का आरोप

पुष्यमित्र उपाध्याय ने लगाया प्रियंका गांधी पर कविता चोरी का आरोप

“बहुत हुआ इंतजार अब, सुनो द्रौपदी शस्त्र उठा लो अब गोविंद ना आएंगे. औरों से कब तक आस लगाओगी”…इस कविता की चोरी का आरोप कविता के लेखक पुष्यमित्र उपाध्याय ने कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी पर लगाया है, लेखक पुष्यमित्र उपाध्याय ने उनकी लिखी कविता के राजनीतिक उपयोग करने की अनुमति देने से इनकार कर दिया है, पुष्यमित्र उपाध्याय ने ये कविता “निर्भया कांड” के समय आहत होकर लिखी थी.

प्रियंका गांधी पर कविता चोरी का आरोप

कवि पुष्यमित्र उपाध्याय ने कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी पर कविता चोरी का आरोप लगाते हुए कहा है कि ये कविता उन्होंने देश की स्त्रियों के लिए लिखी थी न कि घटिया राजनीति के लिए. दरअसल उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव की तैयारी में जुटीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी बुधवार 17 नवंबर को चित्रकूट पहुंचीं थी. उन्‍होंने पहले मत्स्यगजेन्द्रनाथ मंदिर में जलाभिषेक किया और उसके बाद महिलाओं से संवाद किया. इस संवाद के दौरान उन्होंने चित्रकूट के रामघाट पर महिलाओं को संबोधित करते हुए महिलाओं से यूपी को बदहाली से निकालने के लिए संघर्ष में आगे आने का आह्वान किया, उन्होंने एक कविता पाठ किया, “बहुत हुआ इंतजार अब, सुनो द्रौपदी शस्त्र उठा लो अब गोविंद ना आएंगे. औरों से कब तक आस लगाओगे.”  

कवि पुष्यमित्र उपाध्याय को आपत्ति

अब  कविता को लिखने वाले कवि पुष्यमित्र उपाध्याय ने इस पर आपत्ति जताते हुए प्रियंका गांधी को कविता के राजनीतिक उपयोग की अनुमति देने से इनकार कर दिया है, ये जानकारी पुष्यमित्र उपाध्याय ने खुद ट्वीट करके दी है. कवि पुष्यमित्र उपाध्याय ने कहा कि ये कविता मैंने देश की स्त्रियों के लिए लिखी थी न कि आपकी घटिया राजनीति के लिए. उन्होंने लिखा है कि न तो मैं आपकी विचारधारा का समर्थन करता हूं और न ही मैं आपको अपनी साहित्यिक संपत्ति का राजनैतिक उपयोग की अनुमति देता हूं.

ये भी पढ़ें..

अपर मुख्य सचिव ने की परिवहन एवं ग्रामीण निर्माण विभाग से सम्बन्धित मा. मुख्यमंत्री की घोषणाओं की समीक्षा

हमसे फेसबुक में जुड़ने के लिए यहाँ click करे

About team HNI

Check Also

संयुक्त किसान मोर्चा की बैठक आज, क्या होगा किसानों का अगला कदम

नई दिल्ली। किसान आंदोलन के लिए आज शनिवार का दिन बेहद महत्वपूर्ण है। तीनों कृषि …

Leave a Reply