समाजवादी पार्टी से निष्कासित नेता जयाप्रदा ने कहा है कि यदि उन्हें ‘‘सम्मानजनक न्योता’’ मिलता है तो वह किसी पार्टी में शामिल हो सकती हैं। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नोटबंदी के फैसले की तारीफ की। शिरडी में साईंबाबा के दर्शन के बाद गुजरे जमाने की अभिनेत्री ने कहा, ‘‘समाजवादी पार्टी को छोड़कर अन्य किसी भी पार्टी से यदि सम्मान से आमंत्रित किया जाता है तो मैं उसमें शामिल हो जाउंगी।’’ सपा पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश की पार्टी में महिलाओं को कोई मान-सम्मान नहीं मिलता। ‘‘मैं सपा में कभी नहीं जाउंगी, जो आजम खान जैसे नेताओं की पार्टी बन गयी है।’’ उन्होंने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव द्वारा चुनावी रैली में मोदी पर ली गयी ‘‘गधा’’ वाली चुटकी को गलत बताया।

उन्होंने कहा, ‘‘अखिलेश यादव की गधा वाली टिप्पणी गलत है। मोदी का नोटबंदी का फैसला सही था, हालांकि शुरूआत में लोगों को दिक्कत हुई है। इसके लिए मैं मोदी की आभारी हूं।’’ पूर्व सांसद ने कहा कि सपा के शासनकाल में उत्तर प्रदेश ‘‘गुंडाराज’’ बन गया है। उन्होंने आरोप लगाया, ‘‘महिलाएं और लड़कियां उत्तर प्रदेश में सुरक्षित नहीं हैं। बलात्कार की घटनाएं बढ़ रही हैं, जबकि राज्य सरकार कानून-व्यवस्था ठीक नहीं कर पा रही है।’’ एक सवाल के जवाब में जयाप्रदा ने कहा कि वह मुलायम सिंह यादव के साथ खड़ी जरूर हुई थीं, लेकिन वह अखिलेश के खिलाफ नहीं हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘अखिलेश मेरे भाई की तरह है, जबकि मुलायमजी मेरे पिता समान हैं।”