समाजवादी पार्टी और पार्टी चिह्न को लेकर चल रहे घमासान के बीच मुलायम सिंह यादव भी दो-दो हाथ के मूड में दिख रहे हैं. दिल्ली में उन्होंने एक संवाददाता सम्मेलन में साफ कहा, मैं अब भी समाजवादी पार्टी का अध्यक्ष हूं और शिवपाल यादव सपा के यूपी अध्यक्ष हैं. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि रामगोपाल यादव पार्टी से बाहर किए जा चुके हैं, ऐसे में उन्हें अधिवेशन बुलाने का कोई अधिकार नहीं. वहीं सूत्रों से खबर है कि अमर सिंह ने मुलायम सिंह के सामने पार्टी से इस्तीफे की पेशकश की है.

इससे पहले मुलायम ने दिल्ली पहुंचकर शिवपाल यादव और अमर सिंह के साथ बैठक की. सूत्रों के मुताबिक, इस दौरान बाहर नारे लगा रहे कार्यकर्ताओं को उन्होंने बुलाया और कहा कि अखिलेश मेरा ही लड़का है. अब हम क्या करें, वह जो कर रहा है उसे करने दो, हम क्या कर सकते हैं. मार थोड़े ही देंगे. अब सब कुछ उसके पास है, मेरे पास क्या है. मेरे पास तो गिनती के विधायक हैं.

अखिलेश के खिलाफ मुलायम कुछ भी नहीं बोले, हां यह जरूर कहा कि कई जगह सड़कों का विकास हुआ है, तो उसमें पीडब्ल्यूडी मिनिस्टर शिवपाल यादव का भी योगदान है. कुछ इस तरह मुलायम ने शिवपाल की तारीफ कर दी. उस वक्त शिवपाल साथ ही बैठे थे.