Thursday , June 13 2024
Breaking News
Home / उत्तराखण्ड / चौंकाने वाला खुलासा! उत्तराखंड में ढाई साल में 3,854 महिलाएं और 1,134 लड़कियां लापता

चौंकाने वाला खुलासा! उत्तराखंड में ढाई साल में 3,854 महिलाएं और 1,134 लड़कियां लापता

देहरादून। प्रदेश में आरटीआई से बड़ा खुलासा हुआ है। उत्तराखंड में महिला सुरक्षा तथा महिला अधिकार संरक्षण के कितने भी दावे कर लिये जाये लेकिन हकीकत इससे दूर नजर आती है। प्रदेश में जनवरी 2021 से मई 2023 तक 29 माह में 3854 महिलायें तथा 1134 बालिकायें गुमशुदा दर्ज की गयी है। इस अवधि में 2961 गुमशुदा महिलायें तथा 1042 लड़कियां बरामद भी हुई है।

बता दें कि ये चौंकाने वाला खुलासा काशीपुर निवासी सूचना अधिकार कार्यकर्ता नदीम उद्दीन को पुलिस द्वारा दी गई जानकारी से हुआ है। उत्तराखंड पुलिस मुख्यालय के लोक सूचना अधिकारी से नदीम उद्दीन ने उत्तराखंड में गुमशुदा व्यक्तियों, महिलाओं, बालक और बालिकाओं के आंकड़ों की सूचना मांगी थी। जिसके जवाब में उन्हें जो जानकारी मिली उस से ये खुलासा हुआ है।

नदीम उद्दीन को उपलब्ध सूचना के अनुसार उत्तराखंड के 13 जिलों तथा रेलवे (जी.आर.पी. अन्तर्गत) में जनवरी 2021 से मई 2023 तक कुल 3854 महिलायें गुमशुदा दर्ज की गई है। इनमें 2021 में 1494, वर्ष 2022 में 1632 तथा वर्ष 2023 में मई तक 728 महिलायें शामिल है। इसी अवधि में कुल 1132 बालिकायें गुमशुदा दर्ज हुई है। जिसमें 2021 में 404 वर्ष 2022 में 425 तथा 2023 में मई तक 305 बालिकायें शामिल है। नदीम उद्दीन को उपलब्ध गुमशुदा महिलाओं की बरामदगी के आंकड़ों के अनुसार जनवरी 2021 से मई 2023 तक कुल 2961 महिलायें बरामद हुई है। इसमें 2021 में 1271, वर्ष 2022 में 1281 तथा 2023 में मई तक 409 महिलायें शामिल है। जबकि इसी अवधि में कुल 1042 गुमशुदा लड़कियां बरामद हुई है। जिसमें 2021 में 393, वर्ष 2022 में 403 तथा 2023 में मई तक 246 लड़कियां शामिल है।

गुमशुदा महिलाओं के जिलावार विवरण के अनुसार :- नैनीताल जिले में 2021 में 168 वर्ष 2022 में 165 तथा 2023 में मई तक 53 महिलायें गायब हुई हैं। उधमसिंह नगर जिले में क्रमशः 343, 415, तथा 183, पिथौरागढ़ जिनले में 14, 18 तथा 7, अल्मोड़ा जिले में 25, 44 तथा 23, टिहरी जिले में 59, 49 तथा 35, बागेश्वर जिले में 34, 26 तथा 12, पौड़ी जिले में 43, 58 तथा 19, उत्तरकाशी जिले में 34, 23 तथा 15, देहरादून जिले में वर्ष 2021 में 364, वर्ष 2022 में 430 तथा 2023 में मई तक 163 महिलायें, हरिद्वार जिले में क्रमशः 339, 314 तथा 169, चमोली में 31, 26 तथा 14, चम्पावत जिले में 23, 48 तथा 25, रूद्रप्रयाग जिले में 14, 15 तथा 10 तथा रेलवे क्षेत्र (जी.आर.पी. अन्तर्गत) में वर्ष 2021 में 3, 2022 में 1 तथा 2023 में मई तक शून्य गुमशुदा महिला दर्ज हुई है।

गुमशुदा लड़कियों के जिलावार विवरण के अनुसार :- नैनीताल जिले में 2021 में 74, वर्ष 2022 में 63, वर्ष 2023 में मई तक 17 लड़कियां गुमशुदा दर्ज हुई हैं जबकि जिला उधमसिंह नगर में क्रमशः 133, 146 तथा 49, पिथौरागढ़ में 17, 22 तथा 15, अल्मोड़ा जिले में 10, 13 तथा 9, टिहरी जिले में 23, 18 तथा 12, बागेश्वर जिले में 8, 8 तथा 2, पौड़ी जिले में 5, 8 तथा 7, उत्तरकाशी जिले में 5, 3, तथा 2, देहरादून जिले में वर्ष 2021 में 30 लड़कियां, 2022 में 9 तथा 2023 में मई तक 80 लड़कियां गुमशुदा दर्ज हुई है। हरिद्वार जिले में क्रमशः 81, 103 तथा 95, चमोली जिले में 8, 9 तथा 5, चम्पावत जिले में 9, 17 तथा 8, रूद्रप्रयाग जिले में 1, 6 तथा 3, रेलवे क्षेत्र (जी.आर.पी.) में इस अवधि में केवल 2023 में मई तक 1 लड़कियां गुमशुदा दर्ज हुई है।

About team HNI

Check Also

पीएम मोदी के किन नेताओं को मिली हार, किसके हाथ लगी जीत, जानिए एक क्लिक में यहाँ…

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के नतीजे काफी हद तक साफ हो चुके हैं। 543 सीटों …

Leave a Reply