Tuesday , June 25 2024
Breaking News
Home / चर्चा में / अग्निवीरों को लेकर क्या होने वाला है बड़ा फैसला, सेना उठा रहीं ये बड़ा कदम…

अग्निवीरों को लेकर क्या होने वाला है बड़ा फैसला, सेना उठा रहीं ये बड़ा कदम…

नई दिल्ली। देश में अग्निवीर योजना को लेकर बहस छिड़ी हुई है। विपक्ष के निशाने पर केंद्र सरकार है। तो वहीं चुनावी मौसम में इंडिया महागठबंधन ने इस योजना को समाप्त करने की घोषणा की है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने साफ-साफ कहा है कि केंद्र में महागठबंधन की सरकार आते ही अग्निवीर योजना को समाप्त कर देंगे। वहीं अब देश की सेना भी एक इंटर्नल सर्वे कर रही है, अग्निवीर योजना में क्या सुधार किया जा सकता है, इसे लेकर कई तरह के सवाल-जवाब किए जा रहे हैं।

अग्निवीर को लेकर सर्वे:- बताया जा रहा है कि आर्मी इस समय अलग-अलग वर्गों से बात कर अग्निवीर योजना को डीकोड कर रही है, उसकी सफलता और चुनौतियों को समझने का प्रयास कर रही है। इसी कड़ी में भर्ती करवाने वाले अधिकारियों से बात की जा रही है, आर्मी के कमांडरों से भी सवाल-जवाब हो रहे हैं। इसके ऊपर 10 सवालों का एक Questionnaire भी तैयार किया गया है जो अलग-अलग पदों के अधिकारियों को दे दिया गया है।

अग्निवीरों की भर्ती को लेकर पूछे जा रहे प्रश्न:- एक बड़ा सवाल ये भी है कि जो अग्निवीर ज्यादा फिट हैं या फिर सेना के जवाव जो पुराने तरीके से चुनकर आए हैं। उस आधार पर ही आगे कोई बड़ा फैसला लेने की बात हो रही है। इसके ऊपर ये भी समझने की कोशिश हो रही है कि अग्निवीरों में असल में सेना में शामिल होने को लेकर कितना उत्साह है, क्या सही में वे देश सेवा में विश्वास रखते भी हैं, उनके इस जज्बे को भी जानना भी सेना ने परफॉर्मेंस के लिहाज से जरूरी मांगा है। अब शुरुआत में अग्निवीर योजना क्योंकि सिर्फ चार साल के लिए है, ऐसे में सर्वे ये सवाल भी रखा गया है कि चार साल पूरे होने के बाद अग्निवीरों को क्या करना है, वे आगे भी सेना में रहना चाहते हैं या फिर किसी नौकरी में चले जाएंगे। उन्हीं अग्निवीरों से ये सवाल भी पूछा जाएगा कि क्या वे अपने दूसरे साथियों को ये ज्वाइन के लिए के लिए प्रोत्साहित करने वाले हैं या नहीं।

अब तक कितने अग्निवीर: जानकारी के लिए बता दें कि अभी तक अग्निवीर योजना के तहत 40 हजार युवाओं ने अपनी ट्रेनिंग पूरी की है। इस समय नेवी में 7385 अग्निवीर हैं, वायुसेना में 4955 अग्निवीर चल रहे हैं।

क्या है अग्निपथ योजना: अग्निपथ योजना 2022 में शुरू हुई थी। इसमें भर्ती हुए अग्निवीरों का 4 साल का कार्यकाल होता है। हालांकि 25 फीसदी अग्निवीरों की भर्ती सेना में होती है लेकिन 75 फीसदी को वापस घर जाना होता है।

बता दें कि अग्निपथ योजना लोकसभा चुनाव में मुद्दा बना है। खासकर कांग्रेस समेत कुछ विपक्षी दलों ने वादा किया है कि वे सत्ता में आए तो इस योजना को समाप्त कर देंगे। इस चुनावी मौसम में तो ये बड़ा मुद्दा बन चुका है।

About team HNI

Check Also

पीएम मोदी के किन नेताओं को मिली हार, किसके हाथ लगी जीत, जानिए एक क्लिक में यहाँ…

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के नतीजे काफी हद तक साफ हो चुके हैं। 543 सीटों …

Leave a Reply