Saturday , December 10 2022
Breaking News
Home / खेल / ओलिंपिक मेडलिस्ट बॉक्सर लवलीना ने कहा- जो कोच मेडल दिलाते हैं, उन्हें हटा दिया जाता है!

ओलिंपिक मेडलिस्ट बॉक्सर लवलीना ने कहा- जो कोच मेडल दिलाते हैं, उन्हें हटा दिया जाता है!

बर्मिंघम। भारत के लिए टोक्यो ओलंपिक में ब्रॉन्ज मेडल जीतने वाली बॉक्सर लवलीना बोरगोहेन ने कॉमनवेल्थ गेम्स से पहले सनसनीखेज आरोप लगाया है। लवलीना का कहना है कि वह उत्पीड़न का शिकार हो रही हैं। कॉमनवेल्थ गेम्स शुरू होने में अब कुछ ही दिन बचे हैं और उन्हें कोच के साथ ट्रेनिंग नहीं करने दिया जा रहा है।
लवलीना ने ट्वीट किया, ‘आज मैं बड़े दुख के साथ कहती हूं कि मेरे साथ बहुत हैरेसमेंट हो रहा है। जिस कोच ने मुझे ओलंपिक में मेडल जीतने में मदद की उन्हें बार-बार हटा दिया जा रहा है। इससे मेरे ट्रेनिंग प्रोसेस पर बुरा असर हुआ है। इंग्लैंड आने से पहले भी मुझे अपने कोच के साथ ट्रेनिंग करने में बहुत मुश्किल हुई। बार-बार हाथ जोड़ कर मिन्नत करने के बावजूद बहुत देर से उन्हें ज्वाइन कराया जाता है।
लवलीना ने कहा, मुझे ट्रेनिंग में बहुत परेशानी उठानी पड़ती है और मेंटल हैरेसमेंट तो होता ही है। अभी तक मेरी कोच संध्या को कॉमनवेल्थ गेम्स विलेज के बाहर रखा गया है। उन्हें एंट्री नहीं मिल रही है। ऐसा तब हो रहा है जब कॉमनवेल्थ गेम्स में मेरे मुकाबले शुरू होने में 8 दिन ही बचे हैं। मेरे दूसरे कोच को भी वापस भारत भेज दिया गया है। मुझे समझ नहीं आ रहा मैं कैसे फोकस करूं? इसी के कारण पिछली वर्ल्ड चैंपियनशिप में भी मेरा परफॉर्मेंस खराब हुआ था। अब राजनीति के कारण मैं कॉमनवेल्थ भी खराब नहीं करना चाहती हूं। आशा करती हूं कि मैं देश के लिए, मेरे देश के लिए इस राजनीति को तोड़कर मेडल ले आऊं। जय हिंद।’
लवलीना ने ये आरोप किस पर लगाए हैं अब तक कुछ क्लियर नहीं हो पाया है। जब भास्कर ने इस बारे में उनसे बात करने कि कोशिश की तो उन्होंने फोन नहीं उठाया। उसके बाद भास्कर ने उन्हें मैसेज किया। तब उन्होंने कहा कि मैं किसी पर आरोप नहीं लगा रही हूं। मेरे साथ जो हो रहा है वो मैंने ट्वीट कर कह दिया है।
इसके बाद भारतीय टीम के चीफ कोच पीसी भट्ट ने बताया कि लवलीना तो अभी हमारे साथ ब्रेकफास्ट कर के गई है। ऐसा कुछ होता तो हमें जरूर बताती। उनके कोच को आने में देरी क्यों हुई, इस सवाल पर उन्होंने कहा कि आईओए से उनका नाम नहीं आया था। इसलिए वे देरी से आईं। वहीं गेम्स विलेज में एंट्री पर कहा कि वहां लिमिटेड खिलाड़ी और कोच ही जा सकते हैं।

About team HNI

Check Also

सरकार का यू टर्न : माना- रामदेव की दवाओं पर बैन यानी गलती से हुई ‘मिस्टेक’!

अब आयुर्वेद विभाग ने हटाई दिव्य फार्मेसी की पांच दवाओं के उत्पादन पर लगाई गई …

Leave a Reply