Wednesday , June 26 2024
Breaking News
Home / उत्तरकाशी / चारधाम यात्रा के बदले नियम, गंगोत्री-यमुनोत्री धाम में दर्शन के लिए ध्यान रखनी होंगी ये बातें, SOP जारी

चारधाम यात्रा के बदले नियम, गंगोत्री-यमुनोत्री धाम में दर्शन के लिए ध्यान रखनी होंगी ये बातें, SOP जारी

उत्तरकाशी। चारधाम यात्रा पर जाना चाहते हैं। तो यह आपके लिए सबसे जरूरी खबर है। उत्तराकाशी पुलिस ने यात्रा को लेकर विशेष कार्य योजना (एसओपी) जारी किया है। इसके मुताबिक अब रात 8 बजे के बाद किसी भी वाहन को गंगोत्री और यमुनोत्री धाम नहीं जाने दिया जाएगा। तो वहीं रात 11 बजे के बाद यात्रा प्रतिबंधित रहेगी। वहीं, शाम 5 बजे बाद कोई भी यात्री जानकीचट्टी से यमुनोत्री धाम दर्शन के लिए नहीं जा पाएगा।

एसपी अर्पण यदुवंशी की ओर से जारी एसओपी के अनुसार, यमुनोत्री धाम जाने वाले वाहनों को रात आठ बजे के बाद डामटा, नौगांव, बड़कोट, दोबाटा, खरादी, पालीगाड से आगे जाने नहीं दिया जाएगा। इसी तरह गंगोत्री धाम जाने वाले वाहनों को रात आठ बजे बाद नगुण, उत्तरकाशी शहर, हीना, भटवाड़ी व गंगनानी से आगे नहीं भेजा जाएगा।

वहीं यमुनोत्री पैदल मार्ग पर सुबह चार बजे से ही आवागमन शुरू होगा। शाम पांच बजे के बाद किसी को भी पैदल मार्ग पर नहीं भेजा जाएगा। इस दौरान डंडी-कंडी व घोड़ा-खच्चर भी प्रतिबंधित रहेंगे। वहीं डंडी-कंडी व घोड़ा खच्चर के लिए रोटेशन की व्यवस्था लागू रहेगी। भीड़ बढ़ने पर घोड़ा-खच्चरों को वैकल्पिक मार्ग से भेजा जाएगा। दोनों ही धामों में रात साढ़े आठ बजे के बाद गंगा व यमुना आरती के उपरांत कोई भी अनावश्यक रूप से मंदिर परिसर में नहीं रह सकेगा। किसी भी पड़ाव पर यात्री वाहनों को दो घंटे से ज्यादा नहीं रोका जाएगा। प्रत्येक दिन सुबह पांच बजे से यातायात व्यवस्था का आवागमन सुचारू रूप से होगा।

हालांकि आपातकालीन स्थिति में यात्री व श्रद्धालुओं को प्राथमिकता के आधाार पर आकस्मिक सेवा स्थल तक जाने दिया जाएगा। इसके अलावा धाम जाने वाले श्रद्धालु रात आठ बजे के बाद होटल बुकिंग तक जा सकेंगे। इसके लिए श्रद्धालुओं को बैरियरों पर तैनात पुलिसकर्मी को होटल बुकिंग के संबंध में जानकारी व आवश्यक प्रमाण उपलब्ध कराना जरूरी होगा। रात 11 बजे के बाद यात्रा पूर्ण रूप से प्रतिबंधित रहेगी। यमुनोत्री हाईवे पर पालीगाड़ से जानकीचट्टी के बीच 25 किमी संकरे हिस्से में जाम से निपटने के लिए बड़े वाहनों को लिए गेट सिस्टम लागू रहेगा। बड़े वाहनों को रोककर एक निश्चित समय बाद छोड़ा जाएगा। जबकि छोटे वाहन चलते रहेंगे। इधर, गंगोत्री हाईवे पर गंगनानी से डबरानी पांच किमी, सुक्की से झाला सात किमी तथा हर्षिल से झाला 14 किमी तक वन-वे प्रभावी रहेगा।

केदारनाथ धाम से लेकर गंगोत्री, यमुनोत्री ,बद्रीनाथ धाम में इस साल रिकार्ड तोड़ तीर्थ यात्री पहुंचे हैं। 10 दिन के भीतर ही लगभग 7 लाख से अधिक तीर्थ यात्री चारों धाम की यात्रा कर चुके हैं। तो वहीं एक सप्ताह के भीतर बद्रीनाथ धाम में डेढ़ लाख से अधिक तीर्थ यात्रा दर्शन कर चुके हैं। हर दिन 15 से 20000 तीर्थ यात्री भगवान बद्री विशाल के दर्शन कर रहे हैं।

About team HNI

Check Also

पीएम मोदी के किन नेताओं को मिली हार, किसके हाथ लगी जीत, जानिए एक क्लिक में यहाँ…

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के नतीजे काफी हद तक साफ हो चुके हैं। 543 सीटों …

Leave a Reply