Thursday , June 17 2021
Breaking News
Home / उत्तरकाशी / दून अस्पताल में भर्ती उत्तरकाशी के पॉजिटिव युवक की मौत

दून अस्पताल में भर्ती उत्तरकाशी के पॉजिटिव युवक की मौत

  • कुछ दिन पहले दिल्ली से लौटे थे उसके पिता, अब माता-पिता भी निकले कोरोना संक्रमित

देहरादून। दून अस्पताल में भर्ती उत्तरकाशी के एक युवक की बृहस्पतिवार तड़के मौत हो गई। एम्स से आई जांच रिपोर्ट में वह कोरोना पॉजिटिव निकला। युवक के माता-पिता भी संक्रमित बताए जा रहे हैं। उत्तरकाशी जिला मुख्यालय के नजदीक एक मोहल्ले के युवक को सांस लेने में दिक्कत के चलते 22 जून को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था।
अगले दिन ट्रूनेट मशीन से जांच में युवक कोरोना पॉजिटिव निकला। दिक्कत बढ़ने पर उसे 24 जून की रात दून अस्पताल रेफर किया। यहां उसकी मौत हो गई। युवक की कोई ट्रेवल हिस्ट्री नहीं थी। लेकिन उसके पिता कुछ दिन पहले दिल्ली से लौटे थे। 
डीएम डॉ. आशीष के मुताबिक युवक की मौत का कारण एक्यूट रेस्पिरेटरी डिस्ट्रेस सिंड्रोम (श्वसन संबंधी गंभीर परेशानी) है। पूर्व में युवक को निमोनिया की शिकायत होने का भी पता चला है। सूत्रों ने बताया कि उत्तरकाशी से युवक को लेकर चली एंबुलेंस रास्ते में करीब पौने घंटे तक अटकी रही। सूचना पर देहरादून सीएमओ कार्यालय से वेंटिलेटर युक्त एंबुलेंस भेजी गई। इस बीच करीब आधा से पौना घंटे लग गया। तब तक सड़क से मिट्टी हटने की वजह से उत्तरकाशी वाली एंबुलेंस दून के लिए रवाना हो चुकी थी। एक डॉक्टर के मुताबिक, युवक को न्यूमोनिया के साथ कोरोना भी था। ऐसे में लंबा सफर होने और समय पर वेंटिलेटर आदि की सुविधा न मिलने पर युवक को सांस लेने में दिक्कत बढ़ गई थी।
कोरोना के स्टेट को-ऑडिनेटर एवं दून अस्पताल के डिप्टी एमएस डॉ. एनएस खत्री ने बताया कि बृहस्पतिवार सुबह लगभग साढे़ पांच बजे युवक को दून अस्पताल पहुंचते ही आईसीयू में भर्ती किया था। हालत ज्यादा खराब होने पर करीब 40 मिनट बाद युवक ने दम तोड़ दिया। दोपहर बाद कोविड-19 गाइडलाइन के अनुसार शव परिजनों को सौंप दिया। बाद में पीपीई किट और अन्य सुरक्षा उपायों के साथ सरकारी एंबुलेंस से शव को रायपुर के नजदीक स्थित श्मशान घाट ले जाया गया और अंतिम संस्कार कर दिया गया।
प्रशासन ने युवक के मोहल्ले को कंटेनमेंट जोन घोषित कर आवाजाही पर रोक लगा दी है। यहां 20 लोगों की रैपिड सैंपलिंग कराई गई। इनमें से दो की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद उनके सैंपल जांच के लिए एम्स भेज दिए हैं। युवक और उसके परिजनों के संपर्क में आए लोगों को क्वारंटीन कर दिया है।
डीएम के अनुसार कुछ लोग झूठ बोलकर जिले में प्रवेश कर रहे हैं। होम क्वारंटीन के उल्लंघन करने की शिकायतें भी बढ़ रही हैं। इसके लिए सर्वे टीम को अलर्ट कर दिया है। जिले में विस्तृत सर्वेक्षण कर खांसी, जुकाम, बुखार आदि के लक्षण वाले लोगों को चिह्नित किया जा रहा है।

loading...

About team HNI

Check Also

शाबाश! निहारिका 1000 सैल्यूट

कोरोना संक्रमित ससुर को पीठ पर उठाकर दो किमी अस्पताल ले गईअपनों को कंधा न …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *