Wednesday , November 30 2022
Breaking News
Home / चर्चा में / खतरा टला नहीं! ओमिक्रॉन के नए सब-वैरिएंट XBB ने बढ़ाई चिंता, इन नौ राज्यों में बढ़ रहे केस

खतरा टला नहीं! ओमिक्रॉन के नए सब-वैरिएंट XBB ने बढ़ाई चिंता, इन नौ राज्यों में बढ़ रहे केस

नई दिल्ली। दुनियाभर में अब भी कोरोना का खतरा कायम है। इन दिनों ओमिक्रॉन का नया उप स्वरूप या सब स्ट्रेन एक्सबीबी (XBB) मुसीबत पैदा कर रहा है। ओमिक्रान के सब-वैरिएंट XBB के चलते कोरोना के मामले एक बार फिर से बढ़ने लगे हैं। XBB सब-वैरिएंट की वजह से सिंगापुर में कोविड इंफेक्शन में तेजी से उछाल आई है। भारत के लिए भी यह खतरा बनता जा रहा है। देश के 9 राज्यों में अब तक XBB के केस रिपोर्ट हुए हैं, जिनमें तमिलनाडु सबसे ऊपर है।
देश में पिछले 24 घंटों में कोरोना के 1600 नए मामले सामने आए हैं। वहीं, XBB स्ट्रेन की बात करें तो 23 अक्तूबर तक इसके 380 मामले सामने आ चुके थे। इनमें लगातार बढ़ोतरी हो रही है। एक्सबीबी का संक्रमण तमिलनाडु में सबसे ज्यादा है। तमिलनाडु और बंगाल के अलावा ओडिशा (35), महाराष्ट्र (21), दिल्ली (18), पुडुचेरी (16), कर्नाटक (9), गुजरात (2) और राजस्थान (1) में भी XBB का संक्रमण फैला है। अब तक मिले 380 मामलों में XBB.3 सब-वैरिएंट 68.42 फीसदी है। XBB.2 के केस 15 प्रतिशत और XBB.1 के 2.36 प्रतिशत हैं। इसे देखते हुए दूसरे राज्यों को अलर्ट कर दिया गया है।
जर्मनी के म्यूनिख स्थित संस्था ‘ग्लोबल इनिशिएटिव आन शेयरिंग एवियन इंफ्लूएंजा डाटा’ (GISAID) कोरोना वायरस में बदलाव पर लगातार नजर रखे हुए है। इस संस्था का कहना है कि भारत में पिछले सप्ताह तक ओमिक्रॉन के XBB सब वैरिएंट के 380 केस मिल चुके थे।
ओमिक्रॉन के नए उप स्वरूप XBB को लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन WHO भी चिंतित है। संगठन की मुख्य वैज्ञानिक सौम्या स्वामीनाथन ने का कहना है कि यह सब वैरिएंट शरीर के प्रतिरोधक तंत्र को धोखा देकर व्यक्ति को संक्रमित कर देता है। इसके साथ ही उन्होंने कुछ देशों में कोरोना की नई लहर की चेतावनी भी दी। कोरोना के 300 से ज्यादा सब-वैरिएंट चिंता का विषय बने हुए हैं। XBB वैरिएंट इनमें सबसे ज्यादा घातक है।
उन्होंने कहा कि हमने पहले भी कई घातक कोरोना वैरिएंट देखे, लेकिन यह एक्सबीबी एंटीबॉडीज पर हावी हो सकता है। इस कारण कुछ देशों में फिर कोरोना लहर आ सकती है।

About team HNI

Check Also

सरकार का यू टर्न : माना- रामदेव की दवाओं पर बैन यानी गलती से हुई ‘मिस्टेक’!

अब आयुर्वेद विभाग ने हटाई दिव्य फार्मेसी की पांच दवाओं के उत्पादन पर लगाई गई …

Leave a Reply