Tuesday , April 9 2024
Breaking News
Home / उत्तराखण्ड / आचार संहिता के उल्लंघन में कारगर साबित हो रहा है ‘सी-विजिल‘ एप, जानिए इसकी खासियत

आचार संहिता के उल्लंघन में कारगर साबित हो रहा है ‘सी-विजिल‘ एप, जानिए इसकी खासियत

देहरादून। आचार संहिता के उल्लंघन पर कड़ी निगरानी रखने के लिए भारत निर्वाचन आयोग द्वारा बनाए ‘सी-विजिल‘ एप शिकायतों के समाधान का बेहतरीन जरिया बनता जा रहा है। भारत निर्वाचन आयोग ने आचार संहिता के उल्लंघन को रोकने के लिए सी-विजिल एप लांच किया है। इसके माध्यम से कोई भी आदमी शिकायत कर सकता है। मसलन किसी भी प्रत्याशी ने मतदाताओं को पैसा शराब बांटने का अनुचित प्रयोग कर रहा है। तो इस ऐप के माध्यम से आप शिकायत दर्ज कर सकते हैं। फोटो वीडियो भी अपलोड कर सकते हैं। 100 मिनट के भीतर निर्वाचन आयोग समाधान करेगा।

यह एप सभी एंड्रायड स्मार्ट फोन पर आसानी से काम करता है। शिकायतकर्ता को 100 मिनट के भीतर ही आदर्श आचार संहिता उल्लंघन के संबंध में की गई कार्रवाई के संबंध में जानकारी मिल सकेगी। आदर्श आचार संहिता लागू होने पर इस एप को सक्रिय किया जाएगा। सी-विजल एप भारत निर्वाचन आयोग द्वारा तैयार एक आसान एप है। इसके इस्तेमाल के लिए फोन में एक कैमरा, इंटरनेट कनेक्शन व जीपीएस होना चाहिए। शिकायतकर्ता को आदर्श आचार संहिता उल्लंघन की घटना का वीडियो बनाने के साथ ही संक्षिप्त विवरण के बाद इसे सी-विजिल एप्लीकेशन में लोड करना होगा।

शिकायतकर्ता को उसके मोबाइल पर एक यूनिक आइडी मिलेगी। इसके प्रयोग से वह प्रक्रिया का अपडेट ले सकेगा। एप पर शिकायत आते ही वह संबंधित फील्ड यूनिट को भेज दी जाएगी। कुछ ही मिनटों में उडऩ दस्ता उस स्थान तक पहुंच जाएगा और कार्रवाई को अंजाम देगा। फील्ड यूनिट इस कार्यवाही से संबंधित जानकारी रिटर्निग आफिसर को देगी। घटना सही पाए जाने पर आगे की कार्यवाही को इसे भारत निर्वाचन आयोग के राष्ट्रीय शिकायत पोर्टल पर भेजा जाएगा। शिकायतकर्ता को 100 मिनट के भीतर शिकायत पर की गई कार्रवाई के बारे में जानकारी दी जाएगी। इस एप में शिकायतकर्ता की शिकायत को गुप्त रखने का प्रावधान भी किया गया है।

इस एप का प्रयोग 2019 के चुनाव में भी किया गया था, लेकिन इसका उपयोग अधिकांश चुनाव के दौरान प्रवर्तन कार्यों में लगे अधिकारियों ने किया था। अब इस बार मतदाताओं को भी इसके लिए जागरूक किया जा रहा है। संयुक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी प्रताप शाह का कहना है कि सी विजिल एप का इस्तेमाल कोई भी कर सकता है। आचार संहिता लगने के बाद यह प्रभावी हो जाएगा। इसके लिए आमजन को भी जागरूक किया जा रहा है।

About team HNI

Check Also

चुनावी मौसम में जनता को राहत, कमर्शियल गैस सिलेंडर हुआ सस्ता…

नई दिल्ली। ऑयल मार्केटिंग कंपनियों ने 19 किलोग्राम वाले कमर्शियल सिलेंडर की कीमत में कटौती …

Leave a Reply