• मुठभेड़ के बाद पुलिस ने किया गिरफ्तार, आईईडी विस्फोटक बरामद
  • गिरफ्तार आतंकी कई इलाकों की रेकी कर चुका था, अकेला ही हमला करने की फिराक में था
  • साजिश में शामिल दूसरे आतंकियों और उनके मददगारों की तलाश में कई जगह छापेमारी

नई दिल्ली। दिल्ली पुलिस ने बड़ी आतंकी साजिश को नाकाम कर दिया है। पुलिस की स्पेशल सेल ने इस्लामिक स्टेट (आईएसआईएस) के एक आतंकी को एनकाउंटर के बाद गिरफ्तार कर लिया। साजिश में शामिल दूसरे आतंकियों और उनके मददगारों की तलाश में दिल्ली पुलिस उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश में कई जगह छापे मार रही है।
इस आतंकी के पास 2 आईईडी और एक पिस्टल मिले हैं। आईईडी को प्रेशर कुकर में फिट किया गया था। आतंकी का नाम अबू यूसुफ खान है। वह लोन वुल्फ अटैक यानी अकेले ही हमला करने की फिराक में था। यूसुफ कई इलाकों में रेकी कर चुका था। दिल्ली पुलिस के मुताबिक गिरफ्तार आतंकी की उम्र 30 साल के आसपास है। उसके पास से 30 बोर की पिस्टल और 4 कारतूस बरामद किए गए। उसने कई पहचान और पते होने का खुलासा किया। आतंकी को अफगानिस्तान के खुरासान स्थित आईएस हैंडलर्स से आदेश मिलता था। आतंकी भारत में हमले की साजिश रच रहा था। वह कश्मीर के आईएस नेटवर्क से भी संपर्क में था। मूलरूप से वह यूपी के बलरामपुर का रहने वाला है। आगे की जांच के लिए यूपी एटीएस की टीम आतंकी को बलरामपुर ले जा रही है।

पुलिस ने धौला कुआं और करोल बाग के बीच रिज रोड पर बुद्धा जयंती पार्क के पास शुक्रवार रात करीब 11.30 बजे आतंकी को गिरफ्तार किया, वह बाइक पर था। बुद्धा जयंती पार्क के आसपास एनएसजी के कमांडो तैनात किए गए हैं। एनएसजी और बॉम्ब डिस्पोजल स्क्वायड आईईडी विस्फोटक के कंटेंट की जांच करेंगे।
यूसुफ से स्पेशल सेल के ऑफिस में पूछताछ की जा रही है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक एनकाउंटर के दौरान दूसरा आतंकी फरार हो गया। उसकी तलाश में पुलिस कई इलाकों में छापेमारी कर रही है। आतंकियों की मदद करने वालों का भी पता लगाया जा रहा है।
गौरतलब है कि बीती 9 जनवरी को दिल्ली में आईएस के 3 आतंकियों को मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार किया गया था। ये तीनों गणतंत्र दिवस पर हमले की फिराक में थे। तीनों आतंकी तमिलनाडु से फरार हुए थे। इनके तीन साथी नेपाल भाग गए थे। 2 आतंकियों के पास से हथियार भी बरामद हुए थे।
एनआईए ने बीते सोमवार को यह कार्रवाई की थी। पकड़ा गया डॉक्टर रहमान (28) एमएस रमैया मेडिकल कॉलेज में ऑप्थेलमोलॉजिस्ट रह चुका है। रहमान के लिंक आईएस से जुड़े होने के आरोप हैं। रहमान की गिरफ्तारी आईएस से जुड़े एक व्यक्ति और उसकी पत्नी से मिली जानकारी के आधार पर की गई। आरोपी पति-पत्नी मार्च में दिल्ली में गिरफ्तार किए गए थे।