Monday , June 14 2021
Breaking News
Home / चर्चा में / BJP की नैया डुबोने में लगे शाह, केदारनाथ आपदा में जिस पर किया था हमला अब उसी को दिया टिकट

BJP की नैया डुबोने में लगे शाह, केदारनाथ आपदा में जिस पर किया था हमला अब उसी को दिया टिकट

भाजपा ने उत्‍तराखंड में 70 सीटों के लिए अपने उम्‍मीदवारों में से लगभग एक दर्जन पर पूर्व कांग्रेसी नेताओं को टिकट दे दिया। ग़ज़ब तो तब हो गया जब केदारनाथ से भाजपा ने वर्तमान विधायक और पूर्व कांग्रेसी शैला रानी रावत को टिकट दिया। केदारनाथ आपदा के वक़्त भाजपा ने शैलारानी रावत पर जनता के साथ खड़े ना होने का आरोप लगाया था। इस आपदा के मुद्दे पर भाजपा ने शैला रानी की जमकर आलोचना भी की थी। लेकिन अब उन्‍हें ही चुनावी समय में अपना प्रत्याशी बना दिया। भाजपा के एक अंदरुनी सर्वे के अनुसार माहौल शैला रानी के पक्ष में नहीं हैं लेकिन कांग्रेस के एक बाग़ी नेता ने बताया कि, ”अमित शाह ने पिछले साल ही हमें टिकट का वादा कर दिया था। उन्‍होंने अपना वादा निभाया।” हालांकि इस फ़ैसले के चलते स्थानीय कार्यकर्ताओं में काफ़ी आक्रोश है।

गढ़वाल की 20 विधानसभा क्षेत्र का दौरा करने के बाद पता तो यही चला कि कांग्रेसी बागियों को भाजपा का टिकट मिलने से एंटी इन्‍कमबेंसी का माहौल बदल गया है। गौरी कुंड के एक दुकानदार गोविंद राम ने बताया, ”हमें उन्‍हें(शैलारानी रावत) को हराना चाहते थे लेकिन अब हम क्‍या करें?” इस बात को लेकर भाजपा में भी असंतोष है। कांग्रेस से आए नेताओं को टिकट देने के विरोध में लगभग आधा दर्जन भाजपा नेताओं ने इस्‍तीफे दे दिए हैं। इनमें कई पूर्व विधायक भी शामिल हैं। आशा नौटियाल जो कि केदारनाथ से विधायक रह चुकी हैं, वह इस बार निर्दलीय के रूप में मैदान में हैं। पूर्व कांग्रेसी मंत्री यशपाल आर्य को टिकट देने के बाद एक अन्‍य पूर्व विधायक वीना महाराणा ने भी इस्‍तीफा दे दिया।

 

दरअसल, भाजपा के टिकट के लिए भी कांग्रेस के बागियों में प्रतिस्‍पर्धा थी। पूर्व मंत्री ह‍रक सिं‍ह रावत चौबट्टकल से लड़ना चाहते थे लेकिन यहां से सतपाल महाराज को खड़ा किया गया है। सतपाल महाराज भी कांग्रेस से भाजपा में आए हैं। रोचक बात है कि सतपाल महाराज को टिकट देने के लिए पूर्व भाजपा प्रदेशाध्‍यक्ष तीरथ सिंह रावत का पत्‍ता काट दिया गया। ऐसा नहीं है कि भाजपा ने ही बागियों को टिकट दिया हो, कांग्रेस ने भी ऐसा किया है। उसने भाजपा के तीन पूर्व विधायकों को मैदान में उतारा है। उत्तराखण्ड का यह चुनाव अब मुख्यमंत्री हरीश रावत और प्रधानमंत्री मोदी के बीच होता नज़र आ रहा है।

loading...

About team HNI

Check Also

शाबाश! निहारिका 1000 सैल्यूट

कोरोना संक्रमित ससुर को पीठ पर उठाकर दो किमी अस्पताल ले गईअपनों को कंधा न …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *