Tuesday , September 28 2021
Breaking News
Home / उत्तराखण्ड / पौड़ी : खाना बनाती भाभी को किचन से खींच ले गया गुलदार, बहादुर ननद ने बचाई जान

पौड़ी : खाना बनाती भाभी को किचन से खींच ले गया गुलदार, बहादुर ननद ने बचाई जान

पौड़ी गढ़वाल। यहां चौबट्टाखाल क्षेत्र के घरतोली गांव में रसोई में खाना बना रही महिला पर गुलदार ने हमला कर दिया और उसे घसीटकर खेतों की ओर ले जाने लगा। भाभी रचना देवी को गुलदार के जबड़ों में फंसा देख उसकी ननद रिंकी तुरंत गुलदार पर पत्थर बरसाने लगी। इस बीच शोर सुनकर अन्य ग्रामीण भी उनके घर की ओर दौड़े तो गुलदार रचना को रास्ते में छोड़कर जंगल की ओर भाग गया। इस तरह बहादुर रिंकी ने भाभी की जान बचा ली, लेकिन वो गंभीर रूप से घायल हो गई है। उसे इलाज के लिए नौगांवखाल के अस्पताल में भर्ती कराया गया है।  
मिली जानकारी के अनुसार बीती रात करीब 9 बजे 24 वर्षीया रचना रसोई में अपनी ननद रिंकी के साथ खाना बना रही थी। इस बीच रिंकी किसी काम से दूसरे कमरे में चली गई। वहां घात लगाकर बैठे गुलदार ने रचना पर हमला कर दिया और उसे घसीटते हुए खेतों ओर ले गया। भाभी की चीख सुनकर रिंकी बाहर आई तो गुलदार को देख तो उसने अगले ही पल गुलदार पर पत्थर फेंकने शुरू कर दिए। इस बीच ग्रामीण भी घरों से बाहर निकल आए और गुलदार को भगाने की कोशिश में जुट गए।
भीड़ को देख गुलदार रचना को छोड़कर जंगल की ओर भाग गया। महिला के पति रूपचंद्र ने बताया कि रचना के चेहरे और गर्दन पर गंभीर चोटें आई हैं। पेट में भी अंदरूनी चोटें लगी हैं। घटना के बाद लोगों में वन विभाग को लेकर गुस्सा है। ग्रामीणों ने बताया कि दो दिन पहले यहां सूरज नाम के युवक पर गुलदार ने हमला कर दिया था, लेकिन सूचना दिए जाने के बाद भी वन विभाग के कर्मचारी मौके पर नहीं पहुंचे। अब गुलदार ने मौका देखकर रचना देवी पर हमला कर दिया। उधर रेंज अधिकारी शुचि चौहान ने कहा कि घटना के बाद घरतोली गांव में पिंजरा लगा दिया गया है। क्षेत्र में गुलदार के बढ़ते आतंक के संबंध में उच्चाधिकारियों को पत्र भेजा गया है। साथ ही क्षेत्र में निगरानी बढ़ा दी गई है।

About team HNI

Check Also

गढ़वाल आयुक्त ने ऋषिकेश यात्रा प्रशासन संगठन कार्यालय सहित चारधाम यात्रा, श्री हेमकुंड जी यात्रा हेतु ब्यवस्थाओं का जायजा लिया

• ऋषिकेश में पार्किंग हेतु चंद्रभागा नदी के किनारे खाली क्षेत्र को चिह्नित करने हेतु …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *