Wednesday , May 18 2022
Breaking News
Home / उत्तराखण्ड / उत्तराखंड में फर्जीवाड़ा : 64 उर्दू शिक्षकों की भर्ती में हो गया ‘खेल’!

उत्तराखंड में फर्जीवाड़ा : 64 उर्दू शिक्षकों की भर्ती में हो गया ‘खेल’!

देहरादून। देवभूमि में 64 उर्दू शिक्षकों की भर्ती में खेल होने का मामला सामने आया है। जिसमें पात्र न होने के बावजूद तीन अभ्यर्थी केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा के आधार पर नियुक्ति पा गए। जबकि 31 अभ्यर्थियों को उत्तराखंड पात्रता परीक्षा में 90 फीसद से कम अंकों के बावजूद सामान्य पदों पर नियुक्ति दे दी गई है।
उल्लेखनीय है कि प्रदेश में बेसिक के सहायक अध्यापकों के 2287 पदों पर चल रही भर्ती में विभाग की ओर से हाल ही में उन अभ्यर्थियों की नियुक्ति पर रोक लगाई गई है जो वर्ष 2012 से 2018 तक केंद्रीय शिक्षक एवं उत्तराखंड शिक्षक पात्रता परीक्षा के लिए बीएड मान्य न होने के बावजूद गलत तथ्य दर्शाकर शिक्षक भर्ती प्रक्रिया में शामिल हुए हैं।
हाईकोर्ट के एक आदेश के बाद विभाग की ओर से मामले में दाखिल याचिका का निपटारा करते हुए विभाग ने अभ्यर्थियों की नियुक्ति पर रोक तो लगाई है, लेकिन 64 उर्दू शिक्षकों की भर्ती में कुछ अभ्यर्थी सीटीईटी (केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा) के आधार पर नियुक्ति पा गए हैं। इनके अलावा 31 अभ्यर्थियों को शिक्षक पात्रता परीक्षा में 90 फीसद से कम अंकों के बावजूद सामान्य पदों पर नियुक्ति दी गई है।
शिक्षा विभाग को यह भी शिकायत मिली है कि मणिपुर के एक विश्वविद्यालय से कुछ अभ्यर्थी उर्दू स्नातक की डिग्री के आधार पर नियुक्ति पा गए हैं। इनके मणिपुर से नियमित छात्र के रूप में डिग्री लिए जाने पर सवाल खड़े हो रहे हैं। जबकि इनमें से कुछ लोग मदरसों से मानदेय भी ले रहे थे। शिक्षा निदेशक वंदना गर्ब्याल ने माना कि उर्दू शिक्षकों की भर्ती में गड़बड़ी को लेकर विभाग को शिकायत मिली है। जिसके आधार पर संबंधित अधिकारियों से रिपोर्ट मांगी जा रही है और पूरे प्रकरण की जांच कराई जाएगी। इससे संबंधित विभाग में हड़कंप मचा हुआ है।

About team HNI

Check Also

चारधाम यात्रा-2022 का हुआ औपचारिक शुभारंभ

चारो धामों के लिए 30 वाहनों में 1200 श्रद्धालु हुए रवाना, कैबिनेट मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल …

Leave a Reply