Thursday , December 8 2022
Breaking News
Home / उत्तराखण्ड / उत्तराखंड : 17 साल बाद जेल से छूटे हिस्ट्रीशीटर की हत्या!

उत्तराखंड : 17 साल बाद जेल से छूटे हिस्ट्रीशीटर की हत्या!

कोटद्वार। पौड़ी जनपद के कोटद्वार में एक 62 वर्षीय व्यक्ति की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। बुजुर्ग 3 महीने पहले ही जेल से 17 साल की सजा पूरी कर लौटा था. बुजुर्ग के भाई ने उसकी पत्नी, बेटे और ड्राइवर पर हत्या करने का आरोप लगाया है। घटना के बाद से ड्राइवर फरार बताया जा रहा है.
मिली जानकारी के अनुसार निम्बूचौड़ निवासी मेहरबान सिंह रावत उर्फ मेहरू की घर पर बीती रात 1.30 बजे संदिग्ध परिस्थिति में मौत हो गई। मेहरबान सिंह 3 महीने पहले ही जेल से 17 साल की सजा काटकर बाहर आया था। मेहरबान को कोर्ट में गवाह की हत्या करने के आरोप में 20 साल की सजा हुई थी. लेकिन अच्छे आचरण के चलते उसे 3 साल पहले ही रिहा कर दिया गया था। उसका नाम हिस्ट्रीशीटर के रूप में भी लिया जाता है।
मेहरबान सिंह के भाई प्रमोद रावत ने उसके परिवार पर ही हत्या करने की आशंका जताई है। प्रमोद ने मेहरबान की पत्नी, बेटे और ड्राइवर पर हत्या करने का शक जताया है। प्रमोद ने बताया जब उन्होंने शव को देखा तो शव के मुंह और नाक पर सफेद पाउडर लगा हुआ था। साथ ही पत्नी और बेटा पोस्टमार्टम कराने से इनकार कर रहे थे। उन्होंने बताया कि घटना के बाद से ड्राइवर निवासी कोटद्वार फरार है।

About team HNI

Check Also

सरकार का यू टर्न : माना- रामदेव की दवाओं पर बैन यानी गलती से हुई ‘मिस्टेक’!

अब आयुर्वेद विभाग ने हटाई दिव्य फार्मेसी की पांच दवाओं के उत्पादन पर लगाई गई …

Leave a Reply