Friday , May 20 2022
Breaking News
Home / उत्तराखण्ड / देहरादून : दिनदहाड़े आंखों में मिर्ची पाउडर फेंक तीन लाख लूटे

देहरादून : दिनदहाड़े आंखों में मिर्ची पाउडर फेंक तीन लाख लूटे

देहरादून। शिमला बाईपास स्थित एसबीआई की शाखा के सामने दिनदहाड़े बदमाश ने सेना के इंजीनियर से आंखों में मिर्च पाउडर झोंककर रुपयों से भरा बैग लूट लिया। बैग में 10 लाख रुपये रखे हुए थे। लोगों को पीछे आते देख बदमाश ने तीन लाख रुपये निकाले और बैग फेंककर भाग गया। पुलिस ने बदमाश की तलाश में चारों ओर नाकेबंदी कर चेकिंग शुरू की, लेकिन देर रात तक उसका पता नहीं चला।
पुलिस के अनुसार राधेकृष्ण नैनवाल निवासी हरभजवाला मिलिट्री इंजीनियरिंग सर्विसेज (एमईएस) में इंजीनियर हैं। उनके घर में मरम्मत का काम चल रहा है। बृहस्पतिवार को वह अपने पिता सत्य प्रकाश नैनवाल के साथ शिमला बाईपास स्थित एसबीआई की शाखा से 10 लाख रुपये निकालने आए थे। उन्होंने शाम करीब चार बजे चेक से रकम निकाली और बैंक के पास खड़ी अपनी कार में बैठ गए।
राधेकृष्ण कार की ड्राइविंग सीट पर बैठे थे जबकि उनके पिता साथ वाली सीट पर थे। जैसे ही उन्होंने कार स्टार्ट की, अचानक को-ड्राइवर वाली साइड के दरवाजे को एक युवक ने खोला और दोनों के चेहरे पर मिर्ची पाउडर डाल दिया। इससे पहले कि वे कुछ समझ पाते, बदमाश ने राधेकृष्ण के हाथ से रुपयों से भरा बैग छीन लिया। उन्होंने शोर मचाया तो लोग बदमाश के पीछे भागने लगे। लोगों को पीछे आते देख बदमाश ने बैग की चेन खोली और नोटों की कुछ गड्डियां निकालकर बैग फेंक दिया। राधेकृष्ण ने बैग उठाया तो उसमें तीन लाख रुपये कम थे।
सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और लोगों से पूछताछ की। बदमाश गलियों से होते हुए फरार हो गया। पुलिस ने आसपास के क्षेत्रों में चेकिंग की। एसपी सिटी सरिता डोभाल और आसपास के थानों की फोर्स ने मिलकर चेकिंग अभियान चलाया। लाल टी-शर्ट पहने युवक की तलाश होने लगी, लेकिन उसका पता नहीं चला। पुलिस ने लूट का मुकदमा दर्ज कर लिया है। बदमाश की उम्र करीब 25 से 26 साल बताई जा रही है। वह आसपास ही मंडरा रहा था। पता चला कि उसने मिर्ची पाउडर सामने के डिपार्टमेंटल स्टोर से खरीदा था। पाउडर घटनास्थल पर ही पड़ा हुआ था। उसके हाथ में एक पॉलिथीन भी थी जिसमें ईंट के तीन-चार टुकड़े रखे थे। आशंका जताई जा रही है कि यदि ज्यादा छीना-झपटी और झगड़ा होता तो वह ईंट से हमला भी कर सकता था।
पुलिस ने घटना के बाद सीसीटीवी फुटेज की जांच की। पता चला कि बदमाश पहले पिता-पुत्र के पीछे बैंक में भी गया था। अंदेशा जताया जा रहा है कि वह पहले से ही उनका पीछा कर रहा था। उसे मालूम रहा होगा कि वे पैसे निकालने ही आए हैं। इसके बाद जब उन्होंने पैसे निकाले तो उसने बाहर जाकर मिर्ची पाउडर खरीदा और घटना को अंजाम दे दिया।

About team HNI

Check Also

खेल के इतिहास में अब तक की सबसे बड़ी बोली : 67 करोड़ में नीलाम हुई माराडोना की जर्सी!

दुनिया के सर्वश्रेष्ठ फुटबॉल खिलाड़ी में शामिल डिएगो माराडोना की 1986 वर्ल्डकप में क्वार्टर फाइनल …

Leave a Reply