Monday , August 2 2021
Breaking News
Home / अल्मोड़ा / उत्तराखंड : इन चार जिलों में आज शनिवार को होगी बहुत भारी वर्षा!

उत्तराखंड : इन चार जिलों में आज शनिवार को होगी बहुत भारी वर्षा!

  • पहाड़ी इलाकों में बारिश का कहर, नदी नाले उफान पर और सड़कों पर आया मलबा

देहरादून। प्रदेश के पहाड़ी इलाकों में बारिश अभी से कहर बरपा रही है। यहां नदी और बरसाती नाले उफान पर हैं। सड़कों पर मलबा आने से सड़कें बंद हैं। दून समेत प्रदेश के चार जिलों में आज कई स्थानों पर भारी से बहुत भारी बारिश हो सकती है। मौसम विभाग ने पिथौरागढ़, बागेश्वर, नैनीताल और देहरादून जिलों में कुछ स्थानों पर बहुत भारी बारिश होने की चेतावनी दी है। इसके अलावा टिहरी, रुद्रप्रयाग, पौड़ी और उधमसिंह नगर जिलों में कई स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है।
मौसम विभाग ने पिथौरागढ़, बागेश्वर, नैनीताल, अल्मोड़ा ने पिथौरागढ़, बागेश्वर के ज्यादातर नैनीताल, अल्मोड़ा, देहरादून, रुद्रप्रयाग, टिहरी, पौड़ी, उतरकाशी, चमोली के कई स्थानों और चंपावत, ऊधमसिंह नगर, हरिद्वार के कुछ स्थानों पर बारिश का अनुमान जताया है।  आज शनिवार तड़के कर्णप्रयाग, सिमली, लंगासू, गौचर, आदिबदरी, गैरसैंण, थराली, देवाल, नारायणबगड़ आदि कस्बों में मूसलाधार बारिश हुई। थराली में भी मूसलाधार बारिश से सड़कों में पानी जमा हो गया। श्रीनगर और आसपास के क्षेत्रों में रात में तेज बारिश हुई है। श्रीकोट, श्रीनगर और भक्तियाना में मूसलाधार बारिश से कई दुकानों में मलबा घुस गया। बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग सकनिधार के समीप भी अवरुद्ध हो गया है। सकनीधार के पास एक कार पर पहाड़ी से पत्थर गिर गया। कार सवार यात्री सुरक्षित है।
बदरीनाथ हाईवे पीपलकोटी से करीब दो किलोमीटर दूर जोशीमठ की ओर चट्टान से मलबा गिरने से देर रात से बंद है। शनिवार को सुबह छह बजे से एनएच की जेसीबी से मलबा हटाया जा रहा है। यहां हाईवे बंद  होने से बदरीनाथ धाम जाने वाले श्रद्घालु भी आगे नहीं बढ़ पा रहे हैं। यहां पर चट्टान से लगातार मलबा और पत्थर हाईवे पर आ रहे हैं। आज शनिवार तड़के करीब 06.30 बजे ऋषिकेश-बदरीनाथ हाईवे पर उमा माहेश्वर आश्रम (कर्णप्रयाग) के पास पहाड़ी से भारी चट्टान सड़क पर आ गई। जिससे हाईवे के दोनों तरफ कई वाहन फंस गए। इस दौरान डेढ़ घंटे तक हाईवे पर वाहनों की आवाजाही ठप रही। सूचना पर आलवेदर रोड परियोजना की जेसीबी मशीन मौके पर पहुंची और करीब आठ बजे मलबा हटाकर वाहनों की आवाजाही शुरू की गई। उत्तरकाशी के बड़कोट के यमुनोत्री घाटी में पहले तेज आंधी तूफान के बाद झमाझम बारिश से दूरस्थ गांव करनाली में एक घर की छत उड़ गई।
कुमाऊं में मानसून ने पहाड़ी इलाकों को तर कर दिया है। यहां लोहाघाट, काशीपुर, बाजपुर, नैनीताल, पिथौरागढ़, जसपुर, बागेश्वर, अल्मोड़ा, रामनगर, रुद्रपुर और भवाली में बारिश हुई। कपकोट और बागेश्वर में रातभर बारिश होती रही। कपकोट में पैदल पुलिया ध्वस्त हो गई। कई सड़कें बंद हो गईं। यहां कल रात हुई मूसलाधार बारिश से व्यापक तबाही मची है। बिजली की लाइन क्षतिग्रस्त हो गई है। काफीगैर की दुकानों पानी घुस गया है। सरयू नदी उफान पर है। नदी का जल स्तर चेतावनी लेवल तक पहुंच गया है। ढालन खुनौली मोटर मार्ग बरसाती नाले में बदल गया है। पिथौरागढ़ जिले के मुनस्यारी में कल रात हुई जोरदार बारिश से कई सड़कें और पेयजल लाइनें ध्वस्त हो गई हैं। वर्षा के कारण थल मुनस्यारी मोटर मार्ग रातापानी, बनिक,पातल थोड़ और मुनस्यारी जौलजीबी मार्ग मदकोट से बारम के बीच बंद है। मुनस्यारी घोरपट्टा डाडाधार मोटर मार्ग कई जगहों पर ध्वस्त गया है। साथ ही मुनस्यारी उपजिलाधिकारी कार्यालय के समीप सिंचाई विभाग से कुछ ही दिनों पूर्व बनाई गई दीवार के ध्वस्त होने के कारण मुनस्यारी नगर में पेयजल आपूर्ति बाधित हो गई है। चंपावत में बारिश से दो ग्रामीण मोटर मार्ग बंद हो गए हैं।

About team HNI

Check Also

दून विवि में हुई अंबेडकर चेयर की स्थापना

राज्यपाल, मुख्यमंत्री और शिक्षा मंत्री ने कार्यक्रम में किया प्रतिभाग देहरादून। आज शुक्रवार को राज्यपाल …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *