ऐ भाई जरा देख के चलो…

  • इनमें तीन स्वास्थ्य कर्मचारी, एक सैनिक और एक आईटीबीपी का जवान भी शामिल
  • स्टाफ कोरोना संक्रमित मिलने के बाद आराघर चौक के पास एक निजी अस्पताल में लगा ताला
  • अस्पताल में एक महिला डॉक्टर, उनके बेटे, उसके बाद छह स्टाफ में कोरोना की हुई पुष्टि

देहरादून। यहां सेलाकुई की दो फैक्ट्रियों के 38 कर्मचारियों समेत 43 लोगों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई हैं। इनमें निजी अस्पतालों के तीन स्वास्थ्य कर्मचारी, एक सेना का जवान और एक आईटीबीपी का जवान शामिल है। सीएमओ डॉ. बीसी रमोला ने बताया कि बुधवार को सेलाकुई स्थित दो कंपनी में 38 कर्मचारियों को कोरोना की पुष्टि हुई है।
वहीं एक अस्पताल में कार्यरत एक स्टाफ नर्स एवं दो रिसेप्शनिस्ट की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। एक सेना और एक आईटीबीपी के जवान भी संक्रमित पाए गए हैं। एसीएमओ डॉ. उतम सिंह चौहान और चिकित्सा अधिकारी डॉ. रचित गर्ग की टीम ने मरीजों को अस्पताल में भर्ती करवाया है।
आराघर चौक के पास एक निजी अस्पताल में स्टाफ में लगातार कोरोना संक्रमित मिलने के बाद अस्पताल प्रबंधन ने अस्पताल को बंद कर दिया है। अस्पताल में पहले एक महिला डॉक्टर, उनके बेटे, उसके बाद लगातार छह स्टाफ कर्मचारियों में कोरोना की पुष्टि हुई है। लगातार इतने मरीज सामने आने के बाद एहतियात के तौर पर अस्पताल को फिलहाल बंद करवा दिया गया है। निजी अस्पताल में कोरोना के इतने मरीज एकसाथ आने से स्वास्थ्य विभाग की चिंता भी बढ़ गई है।  दून जिले में अब तक 1221 मामले सामने आए हैं। इनमें से 340 लोगों का अभी अस्पतालों में उपचार चल रहा है।