छत्तीसगढ़। भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज उठाकर राजनीति में अहम स्थान बनाने वाली आम आदमी पार्टी का अस्तित्व यहां खतरे में आ गया है। पहले ही जिम्मेदार पदाधिकारी निष्क्रिय हो गए हैं या फिर पार्टी छोड़ चुके हैं। अब उसके संस्थापक नेता सत्ताधारी दल भाजपा में प्रवेश करने की तैयारी में हैं। मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह के अगले हफ्ते होने वाले कार्यक्रम में उन्हें भाजपा प्रवेश कराने की तैयारी है।
आप की दिल्ली में सत्ता आने के बाद छत्तीसगढ़ में भी पार्टी ने तेजी से पैर पसारा था, लेकिन उतनी ही तेजी से पार्टी शून्यता की ओर चली गई। संगठन में पद पाने अपनों के ही बीच संघर्ष और सम्मान नहीं मिलने की बात को लेकर पार्टी कई धड़ों में बंट चुकी है। फिलहाल स्थिति यह है कि जिले की जिम्मेदारी संभालने वाला कोई जनाधार वाला नेता नहीं है। इस बीच खबर आ रही है कि संस्थापक सदस्यों के रूप में काम की शुरुआत कर पार्टी को स्थापित करने में अहम भूमिका निभाने वाले कई नेता आप छोड़कर भाजपा में जा रहे हैं। संभवतः 21 जुलाई को मुख्यमंत्री के समक्ष वे विधिवत नई जिम्मेदारी संभालेंगे।
सत्ताधारी नेताओं का संपर्क
आप से दूर हो चुके कई नेता इन दिनों घर बैठे हैं। राजनीतिक रूप से वे फिलहाल निष्क्रिय ही हैं। ऐसे नेताओं से भाजपा के लोग संपर्क साध रहे हैं। बताया गया कि जिला संयोजक का पद संभाल चुके एक नेता ने आप से इस्तीफा दे दिया है। अब उन्हें भाजपा में लाने की तैयारी है। उन्होंने भी हामी भर दी है। उनके साथ उनके कुछ समर्थक भी भाजपा ज्वाइन कर सकते हैं।