• इस मोटर मार्ग को भारतमाला मार्ग एवं आल वेदर रोड के मानकों के अनुरूप बनाने की केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्रालय ने दी स्वीकृति

गोपेश्वर से महिपाल गुसाईं।
लंबे संघर्ष एवं कड़ी मेहनत के बाद आखिरकार बदरीनाथ धाम से पहले के मुख्य धार्मिक पड़ाव और पर्यटन महत्व वाले जोशीमठ नगर क्षेत्र से गुजर रही सड़क को भारतमाला मार्ग एवं आल वेदर रोड के मानकों के अनुरूप निर्मित किये जाने की स्वीकृति केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्रालय ने दे दी है। जिससे पूरे जोशीमठ नगर और आसपास के अन्य क्षेत्रों में खुशी की लहर दौड़ गई है।
गौरतलब है कि जोशीमठ नगर क्षेत्र के भीड़भाड़ को देखते हुए केंद्र सरकार ने आल वेदर सड़क योजना के तहत जोशीमठ नगर क्षेत्र से गुजरने वाली बदरीनाथ, हेमकुंड साहिब, फूलों की घाटी सहित अन्य धार्मिक एवं पर्यटन स्थलों को जाने वाले मुख्य मोटर मार्ग को चौड़ीकरण सहित अन्य सुविधाएं से लैंस करने के बजाय हेलंग से मारवाड़ी बाईपास मोटर सड़क के निर्माण की स्वीकृति दी थी। जिससे धार्मिक पर्यटन व्यवसाय पर विपरीत प्रभाव पड़ने की आशंका को देखते हुए जोशीमठ नगर क्षेत्र की जनता ने कड़ा विरोध शुरू कर दिया था।
इसके तहत जोशीमठ की जनता ने एक संयुक्त संघर्ष समिति का गठन कर धार्मिक तीर्थाटन के लिए मशहूर नगर के महत्व को बचाने के लिए संघर्ष शुरू कर दिया। इसके तहत जिलाधिकारी से लेकर क्षेत्रीय विधायक महेंद्र भट्ट, पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज और मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत तक ज्ञापनों के माध्यम से गुहार लगाई गई। संघर्ष समिति के बैनर तले एवं गढ़वाल सांसद तीरथ सिंह रावत के नेतृत्व में क्षेत्रीय विधायक महेंद्र भट्ट, पूर्व भाजपा जिलाध्यक्ष मोहन प्रसाद थपलियाल, जोशीमठ व्यापार संघ संगठन मंत्री माधव सेमवाल, नगर पालिका जोशीमठ के अध्यक्ष शैलेन्द्र पंवार, पूर्व अध्यक्ष ऋषि प्रसाद सती, अतुल सती आदि के एक शिष्टमंडल ने दिल्ली में पिछले वर्ष दिसंबर माह में दिल्ली में केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गड़करी से मिल कर उन्हें जोशीमठ के महत्व की जानकारी देते हुए बताया था कि आदिगुरु शंकराचार्य की गद्दी स्थल होने के साथ ही चीन सीमा नीति के लिये यहीं से होकर जाया जा सकता है। इस संबंध में मंत्री को एक ज्ञापन भी सौंपा गया था। नगर को बचाने के लिए धरना प्रर्दशन का भी सहारा लिया गया। अब जोशीमठ नगर के नागरिकों की जीत सामने दिखने लगी हैं।
जानकारी के अनुसार केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गड़करी ने जोशीमठ नगर क्षेत्र की मुख्य सड़क को भारत माला सड़क परियोजना में सम्लित कर आल वेदर सड़क के मानकों के अनुरूप निर्मित किये जाने के आदेश जारी कर दिए हैं। इस के तहत इसी 13 अगस्त को इस सड़क के निर्माण के लिए आल वेदर के तहत निविदा आमंत्रित की गई हैं। अगर सब कुछ ठीक रहा तो जल्द ही जोशीमठ नगर क्षेत्र में भी आल वेदर के तहत निर्माण कार्य शुरू हो जाएगा। इस निर्णय के बाद पूरे जोशीमठ नगर और आसपास के क्षेत्रों में भी खुशी का माहौल बना हुआ है।