Tuesday , September 29 2020
Breaking News
Home / चर्चा में / तो क्या अमरनाथ आतंकी हमला, हमला नहीं एक्सीडेंट था..?
Amarnath terror attack

तो क्या अमरनाथ आतंकी हमला, हमला नहीं एक्सीडेंट था..?

अमरनाथ यात्रियों पर हुए आतंकी हमले के बाद मोदी सरकार और कश्मीर में भाजपा का गठबंधन निशाने पर आ गया है। सारा देश उबल रहा है। लोग एक्शन चाहते हैं और हमलावर आतंकवादी सफलतापूर्वक फरार हो चुके हैं। इस बीच एक नई कहानी सामने आई है। सच है या लोगों को भ्रमित करने के लिए रची गई है यह तो जांच का विषय है परंतु जो कहानी सामने आई है वो हम यथावत अपने पाठकों के सामने रख रहे हैं।

इस कहानी को कश्मीर के एक लोकल अखबार और कुछ बेवसाइट्स ने प्रकाशित किया है। छपी खबर के मुताबिक यात्रियों से भरी बस गलत समय पर गलत जगह पहुंच गई थी। अखबार के हवाले से कहा गया है कि जिस वक्त यात्रियों से भरी बस घटनास्थल के नजदीक पहुंची, वहां पहले से जम्मू-कश्मीर पुलिस और आंतकियों में मुठभेड़ चल रही थी। यह मुठभेड़ 10 मिनट तक चलती रही।

सबसे पहले अनंतनाग से बटंगू के रास्ते में खानाबल की पुलिसी चौकी पर आतंकियों ने हमला किया। हमले में तीन पुलिसकर्मी घायल हुए लेकिन जवाबी फायरिंग के चलते आंतकी बटंगू की तरफ भागने पर मजबूर हो गए। इस फायरिंग के दौरान एनएच-1ए पर श्रीनगर की तरफ से आ रही बस जो जम्मू जा रही था, बीच में आ गई और गोली बारी का शिकार हो गई।

अमरनाथ यात्री नहीं पर्यटक थे

खबर में यह भी बताया गया है कि बस में सवाल यात्री महाराष्ट्र और गुजरात के मूल निवासी थे और वह अपनी अमरनाथ यात्रा पूरी कर चु​के थे। इसके बाद पर्यटन के लिए श्रीनगर गए थे। यहां भी वो 2 दिन बिता चुके थे। अत: हमला यात्रा के दौरान नहीं हुआ। आतंकियों ने यात्रा पर कोई हमला नहीं किया। यात्री बस आतंकियों के निशाने पर ही नहीं थी। यह पूरा हमला महज एक इत्तेफाक था और शायद अमरनाथ यात्रियों की बस यदि खराब न हुई होती तो वह इस गोलीबारी से साफ बच गए होते।

loading...

About team HNI

Check Also

नीतीश-मोदी से बदला लेने के लिए लालू ने खेला ये ‘दांव’

राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने जनता दल यूनाइटेड (JDU) …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Traffic Bot