BSF जवान तेज बहादुर का है आतंकी कनेक्‍शन। इसकी बीएसएफ की जांच टीम ने तेज बहादुर के विडियो पोस्ट करने के बाद उसका पूरा अकाउंट खंगाला। इसमें उन्हें जानकारी मिली कि उसके 17 फीसदी फ्रेंड पाकिस्तानी हैं। उसके पेज पर पाकिस्तान से कई पोस्ट हुई हैं। इसके साथ ही इसमें प्रयोग किए गए हैशटैग भी सवालों के घेरे में हैं। बताया जा रहा है कि तेज बहादुर के नाम से फेसबुक पर 40 अकाउंट हैं। इनमें से 39 अकाउंट फर्जी हैं।

दरअसल खराब भोजन संबंधी वीडियो यूट्यूब पर अपलोड करके तेजबहादुर चर्चा में आ गए थे। इन आरोपों पर सरकार से जुड़े एक सोर्स ने कहा कि जवान द्वारा लगाए गए आरोप ‘आधारहीन’ हैं। उन्होंने जवान के सोशल मीडिया पर बड़ी संख्या में पाकिस्तानी फ्रेंड हैं और इससे जुड़ी जांच जारी शुरू होने की पुष्‍टि की है।

जांच एजेंसियां इस पर नजर बनाए हुए हैं। तेजबहादुर के फेसबुक पर 3000 से ज्यादा फ्रेंड हैं। सूत्र बताते हैं कि इनमें से कई फ्रेंड कनाडा, तंजानिया जैसे देशों में हैं। पाकिस्तान मूल के लोग तेज बहादुर के विडियोज #near_mutiny_in_Indian_Army हैशटैग से शेयर कर रहे हैं।

इससे पहले शुक्रवार को पत्नी की याचिका पर सुनवाई के दौरान दिल्ली हाई कोर्ट अटॉर्नी जनरल से पूछा कि बीएसएफ के अफसर इतने पत्थरदिल और असंवेदनशील क्यों हैं? बीएसएफ जवान की पत्नी के पूछे सवालों का कोई जवाब क्यों नहीं दिया गया?

हम आपके नियमों के बीच नहीं आना चाहते, लेकिन हम खौफ के साए में जी रही तेजबहादुर की पत्नी की मन:स्थिति से चिंतित हैं। उनको पति की चिंता है। उनकी शंका दूर कीजिए। इस पर अटॉर्नी जनरल ने कहा कि पत्नी की पति से मुलाकात में हमें कोई समस्या नहीं है। इस पर कोर्ट ने कहा कि हम इस मामले की सुनवाई 15 फरवरी को तय कर रहे हैं, जब तक तेजबहादुर की पत्नी पति से मिलकर लौट आएंगी।