Saturday , April 13 2024
Breaking News
Home / उत्तराखण्ड / हल्द्वानी हिंसा: मास्टरमाइंड मलिक से होगी 2.44 करोड़ की वसूली, नोटिस जारी…

हल्द्वानी हिंसा: मास्टरमाइंड मलिक से होगी 2.44 करोड़ की वसूली, नोटिस जारी…

हल्द्वानी। बनफूलपुरा हिंसा के मास्टरमाइंड अब्दुल मलिक पर लगातार शिकंजा कसता जा रहा है। पुलिस के बाद अब नगर निगम हरकत में आ गया है। मलिक को मुख्य आरोपी बताते हुए 2.44 करोड़ रुपये का नोटिस भेजा गया है। 15 फरवरी तक पैसा जमा करने के लिए कहा है। कर्मचारी हेलमेट से लेकर बुलडोजर तक के नुकसान की रकम वसूली जाएगी।

नगर आयुक्त पंकज उपाध्याय ने अब्दुल मलिक को नोटिस भेजा है। नोटिस में कहा गया है कि निगम के स्वामित्व वाली जमीन से अवैध धार्मिक स्थल हटाने के लिए कहा गया था। मलिक ने ऐसा नहीं किया। आठ फरवरी को अवैध निर्माण को ध्वस्त कर जब निगम की टीम, प्रशासनिक अधिकारी और पुलिस टीम लौट रही थी तो मलिक के समर्थकों ने टीम पर जानलेवा हमला कर दिया। इस दौरान सरकारी संपत्ति को भी नुकसान पहुंचाया गया। नोटिस में यह भी कहा गया है कि 11 वाहन, दो ट्रॉली, किराये पर ली गई दो जेसीबी को पूर्ण रूप से क्षतिग्रस्त कर दिया। इन्हें आग लगा दी। इसके अलावा घन, सब्बल, गैंती, फावड़ा, हैलमेट भी चोरी हो गया। इसकी लागत 2.44 करोड़ रुपया है। बता दें कि नगर आयुक्त के पास राजस्व की भांति वसूली करने, संपत्ति को कुर्क करने के अधिकार होते हैं। सूत्रों के अनुसार निगम पैसा जमा नहीं करने पर मलिक की संपत्ति सीज कर सकता है।

उपद्रव का मास्टर माइंड अब्दुल मलिक की गिरफ्तारी पुलिस के लिए चुनौती बना हुआ है। पुलिस टीमों ने दिल्ली और बरेली में डेरा डाल रखा है। मोबाइल बंद होने के कारण पुलिस को उसकी लोकेशन नहीं मिल रही है। मलिक का बगीचा में नजूल भूमि पर कब्जा कर बनाए गए मदरसा और धार्मिक स्थल के ध्वस्तीकरण के दौरान सबसे ज्यादा विरोध अब्दुल मलिक ने ही किया था। जांच के लिए कुछ दिन पहले नगर निगम की एक टीम जब मौके पर पहुंची तो अब्दुल मलिक की अधिकारियों से बहस भी हुई थी। पुलिस और अन्य सूत्र उसे मास्टरमाइंड मानकर चल रहे हैं। 

धामी ने कहा था….पाई-पाई वसूली जाएगी:- बनभूलपुरा की घटना के बाद हर स्थिति पर सरकार नजर रखे हुए हैं। सीएम धामी ने स्पष्ट कहा था कि देवभूमि में ऐसी अराजकता को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। सरकारी नुकसान की पाई-पाई वसूली जाएगी। सीएम के निर्देश धरातल पर नजर आना शुरू हो चुके हैं। दूसरी तरफ उपद्रवियों से उन्हीं की भाषा में निपटने का सिलसिला भी जारी है।

क्या है मामला:- बता दें कि गुरुवार को हल्द्वानी के बनफूलपुरा थाना क्षेत्र के मलिक का बगीचा में नगर निगम की टीम अतिक्रमण और अवैध कब्जे को हटाने के लिए पहुंची थी। आरोपी मलिक ने यहां पर नामज पढ़ाने के लिए जगह बनाई थी और एक मजार भी मौजूद थी, भारी संख्या में पुलिस बल और नगर निगम की टीम यहां पहुंची थी। कार्रवाई के दौरान आस-पास के घरों के छत से उपद्रवियों ने पुलिसकर्मियों पर ईंटें और पत्थर फेंकना शुरू कर दिया। 

इस हिंसा में 6 लोगों की मौत हो चुकी है. हिंसा यहीं नहीं रुकी बल्कि उपद्रवी पुलिस स्टेशन तक पहुंच गए और इस बीच कई पुलिस और मीडिया की गाड़ियों में आग लगा दी, कुछ लोगों ने पुलिस स्टेशन में पेट्रोल बम फेंककर आग लगाई। वहीं कुछ उपद्रवियों ने थाने के अंदर रखी सरकारी बंदूकों को भी चुरा लिया।

अब तक क्या हुआ:- हल्द्वानी हिंसा के मामले में पुलिस ने अभी तक 30 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने इनके खिलाफ कई गंभीर मामलों में केस दायर किया है। पुलिस ने गिरफ्तार हुए लोगों से 7 तमंचे और दर्जनों जिंदा कारतूस बरामद किए हैं। पुलिस ने बताया कि फिलहाल गिरफ्तार आरोपियों से सख्ती से पूछताछ की जा रही है। हालांकि अभी तक हिंसा का मुख्य आरोपी अभी तक पुलिस की गिरफ्त से बाहर है।

About team HNI

Check Also

चुनावी मौसम में जनता को राहत, कमर्शियल गैस सिलेंडर हुआ सस्ता…

नई दिल्ली। ऑयल मार्केटिंग कंपनियों ने 19 किलोग्राम वाले कमर्शियल सिलेंडर की कीमत में कटौती …

Leave a Reply