Wednesday , November 30 2022
Breaking News
Home / उत्तराखण्ड / पौड़ी बस हादसा: अफसरों की कलम ने मृतकों से किया खिलवाड़, चेकों पर लिखे मृतकों के नाम

पौड़ी बस हादसा: अफसरों की कलम ने मृतकों से किया खिलवाड़, चेकों पर लिखे मृतकों के नाम

हरिद्वार। सिमड़ी बरात बस हादसे को लेकर अधिकारियों की लापरवाही लगातार सामने आ रही है। घटना के बीस दिन तक भी बस दुर्घटना में मारे गए लोगों के आश्रितों और घायलों को राहत राशि नहीं दी गई। जब राहत राशि के चेक बांटे भी तो आश्रितों के नाम के बजाय मृतकों के नाम ही काट दिए। जिला प्रशासन की इस करतूत से एक बार फिर अधिकारियों की कार्यशैली पर सवाल खड़े हो रहे हैं। इसके साथ ही इस मामले में सीएम पुष्कर सिंह धामी ने नाराजगी जताई है।
दरअसल, पौड़ी बस हादसे में मारे गए लोगों के परिजनों को सीएम पुष्कर सिंह धामी ने आर्थिक मदद देने का ऐलान किया था। सीएम धामी के ऐलान पर परिजनों को आर्थिक मदद के लिए चेक भी दिये गये। लेकिन अधिकारियों की लापरवाही की हद तब हो गई, जब चेकों पर आश्रितों के बचाए मृतकों का नाम लिखा हुआ था। इससे अंदाजा लगाया जा सकता इतने संवेदनशील मुद्दे पर अधिकारियों कितनी गंभीरता से काम करते हैं।
मालूम हो कि 4 अक्तूबर को लालढांग से पौड़ी जिले के कांडा मल्ला गांव के लिए बरात की बस रवाना हुई थी। बीरोंखाल-रिखणीखाल मोटर मार्ग पर सिमड़ी गांव के पास बस दुर्घटनाग्रस्त हो गई थी। दुर्घटना में 34 लोगों की मौत हो गई थी और 19 लोग घायल हुए थे।
वहीं राज्य के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मृतकों के परिजनों को दो-दो लाख रुपए की सहायता राशि देने का आदेश जारी किया था। आदेश आने के 2 हफ्ते बाद भी मृतकों के परिजनों को राहत राशि नहीं मिली और जिनको मिली उनके साथ भी भद्दा मजाक किया गया। राहत राशि के चेक पर परिजन के बजाए मृतक का नाम था।
जब परिजनों ने बैंक में चेक लगाया तो पता चला कि ये चेक कैश नहीं हो पाएगा। क्योंकि जिनके नाम पर चेक काटे गए हैं वो इस दुनियां में नहीं हैं। हालांकि जैसे ही ये यह मामला तूल पकड़ा वैसे ही अधिकारियों ने कर्मचारियों को पीड़ितों के घर भेज कर सारे चेक वापस मंगवाए। लेकिन तब तक जिला प्रशासन की खूब किरकिरी हो गई थी।

About team HNI

Check Also

सरकार का यू टर्न : माना- रामदेव की दवाओं पर बैन यानी गलती से हुई ‘मिस्टेक’!

अब आयुर्वेद विभाग ने हटाई दिव्य फार्मेसी की पांच दवाओं के उत्पादन पर लगाई गई …

Leave a Reply