Thursday , December 8 2022
Breaking News
Home / चर्चा में / हिमाचल प्रदेश में भारी बारिश ने बरपाया कहर, एक ही परिवार के 7 लोग मलबे में दबे

हिमाचल प्रदेश में भारी बारिश ने बरपाया कहर, एक ही परिवार के 7 लोग मलबे में दबे

मंडी/चंबा/कांगड़ा : हिमाचल प्रदेश के मंडी जिला में मूसलाधार बारिश ने तबाही मचाई है। हिमाचल में येलो अलर्ट के चलते भारी बारिश से मंडी भूस्खलन हो गया देर रात से हो रही मूसलाधार बारिश के कारण जिला में कहर बरपा रही है। मंडी जिला के उपमंडल गोहर की पंचायत काशन के जडोंन गांव मे देर रात एक पहाड़ी धंसने से एक ही परिवार के 7 लोग मलबे में दब गए।
जानकारी के अनुसार खेम सिंह के 2 मंजिला मकान में परिवार के सभी लोग गहरी नींद में सो रहे थे। इसी दौरान देर रात को पहाड़ी धंसने से एक ही परिवार के 7 लोग दब गए। गांव सहित आसपास के गांव के लोग सूचना मिलने पर पहुंचे और परिवार के सदस्यों को बचाने का प्रयास किया जा रहा है।
वहीं, चंबा जिले में दंपती और उनके बेटे की मौत हो गई है, जबकि मंडी के सराज, गोहर और द्रंग में बादल फटने की घटनाओं में एक की मौत हो गई है। जबकि 15 से 20 लोग लापता बताए जा रहे हैं।

उधर बागी कटौला के साथ ही मंडी जिला रात भर हुई भारी बारिश से पूरे जिला भर में व्यापक नुकसान हुआ है। बल्ह घाटी जलमग्न हो चुकी है और सुकेती खड्ड पूरे उफान पर होने के कारण भारी नुकसान की आशंका है। जिला के तीनों एनएच और दर्जनों सड़कें जगह-जगह भूस्खलन से बंद हैं। मंडी-बजौरा वाया कटौला मार्ग में कमांद के पास पहाड़ी से भारी भूस्खलन हुआ है। जिला प्रशासन ने रात को ही मार्ग में यातायात आवाजाही पर रोक लगा दी है।

वहीं, भारी बरसात होने के कारण रेलवे का चक्की पुल रात को बह गया। हालांकि पुल में दरारें आने के कारण डेढ़ हफ्ता पहले  रेल सेवा बंद कर दी थी। डीहार पंचायत के डोल गदयाडा गां में बैजनाथ-सरकाघाट सड़क भी बह गई है। ठिगोग में भी पेट्रोल पंप पर चट्टान गिर गई है। फागू सड़क पर वाहन पर चट्टान गिरी है।
DSP पधर लोकेंद्र नेगी ने कहा कि NDRF की टीम भेजी जा रही है। बंद मार्ग को खोलने बाद घटनास्थल पर रेस्क्यू हो पाना संभव है।

About team HNI

Check Also

सरकार का यू टर्न : माना- रामदेव की दवाओं पर बैन यानी गलती से हुई ‘मिस्टेक’!

अब आयुर्वेद विभाग ने हटाई दिव्य फार्मेसी की पांच दवाओं के उत्पादन पर लगाई गई …

Leave a Reply