Sunday , October 17 2021
Breaking News
Home / जम्मू कश्मीर / गृहमंत्री की दो टूक: बाज न आया पाकिस्तान तो फिर करेंगे सर्जिकल स्ट्राइक

गृहमंत्री की दो टूक: बाज न आया पाकिस्तान तो फिर करेंगे सर्जिकल स्ट्राइक

जम्मू-कश्मीर में टारगेट किलिंग की वारदातों व एलओसी से आतंकियों की घुसपैठ की कोशिशों के बीच गृहमंत्री अमित शाह ने बृहस्पतिवार को दो टूक कहा, सीमा पार से आतंकी हमले बर्दाश्त नहीं किए जाएंगे। पाकिस्तान अगर बाज नहीं आया तो फिर सर्जिकल स्ट्राइक कर मुंहतोड़ जवाब दिया जाएगा। पाकिस्तान को सख्त लहजे में शाह ने संदेश दिया कि घाटी में दहशतगर्दों को भेजना और खून बहाना बंद कर दे। 

दक्षिण गोवा के धारबंदोरा में नेशनल फोरेंसिक साइंस यूनिवर्सिटी की आधारशिला रखते हुए शाह ने कहा, पांच साल पहले भारत की सर्जिकल स्ट्राइक से दुनिया को स्पष्ट संदेश गया है कि भारत आतंकवाद को बर्दाश्त नहीं करेगा। हिंसा फैलाने की हर कोशिश का बराबर जवाब दिया जाएगा। शाह ने सर्जिकल स्ट्राइक के विकल्प को खुला बताते हुए कहा, हम डरने वाले नहीं हैं। जो घाटी में घुसकर अल्पसंख्यकों की हत्या कर रहे हैं, बाज आ जाएं। हमने पलटवार किया तो संभलने का मौका नहीं मिलेगा। 

ये कांग्रेस सरकार नहीं, अब सैनिक घर में घुसकर मारेंगे


शाह ने कहा, वह वक्त और था, जब आतंकी हमलों पर सिर्फ वार्ता होती थी। यह भाजपा की सरकार है, हम आतंकी दुस्साहस को कतई कबूल नहीं करेंगे। दहशतगर्दों को उसी जुबान में जवाब दिया जाएगा जो उन्हें समझ आती है। 2016 में हमारे जवानों ने दुश्मन के घर में घुसकर सेना पर हमले का बदला लिया था, आगे भी ऐसा ही होगा। सर्जिकल स्ट्राइक से दुनिया भी हमारे तेवर समझ गई थी। हमारी सीमा में घुसकर दहशत फैलाने का मौका हम नहीं देते। जो देश इस तरह के मंसूबे पाल रहे हैं वह यह कतई न भूलें कि हमें सर्जिकल स्ट्राइक दोहराने में देर नहीं लगेगी।

ये भी पढ़ें..

सर्च ऑपरेशन के दौरान आतंकियों ने सेना पर किया हमला

हमसे फेसबुक में जुड़ने के लिए यहाँ click करे

29 सितंबर 2016 को जवानों ने एलएसी पार कर लिया था उड़ी हमले का बदला 


उड़ी में सेना के बेस कैंप पर हुए आतंकी हमलों का बदला भारतीय सेना के कुछ जवानों ने 29 सितंबर 2016 को वास्तविक नियंत्रण रेखा के उस पार जाकर लिया था। जवानों ने सर्जिकल स्ट्राइक कर पीओके में स्थित लॉन्च पैड में मौजूद आतंकियों को ढेर किया और सुरक्षित एलओसी के इस पार लौटे थे।

शाह ने परिकर के योगदान को किया याद


शाह ने अपने संबोधन में पूर्व रक्षामंत्री मनोहर परिकर के योगदान को याद किया। मनोहर पर्रिकर ने अपने कार्यकाल में पूर्व सैनिकों की बहुप्रतीक्षित वन रैंक वन पेंशन की मांग को अमली जामा पहनाया था। इस मांग को साकार करने में परिकर ने मुख्य भूमिका निभाई थी।

पाकिस्तान ने खुद को बताया शांति पसंद 


शाह के सर्जिकल स्ट्राइक वाले बयान के जवाब में पाकिस्तान ने बृहस्पतिवार को दावा किया कि वह शांति पसंद करने वाला देश है। पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने शाह के बयान को उकसाने वाला बताते हुए कहा कि वह इस तरह की धमकी से डरता नहीं।


2019 में बहुमत के बिना अनुच्छेद 370, राम मंदिर पर फैसला संभव न होता: शाह


गृहमंत्री अमित शाह ने कहा, पीएम मोदी को अगर 2019 में बहुमत नहीं मिलता तो अनुच्छेद 370 हटाना और राम मंदिर पर फैसला संभव नहीं होता। मोदी सरकार के प्रचंड बहुमत का ही नतीजा है जो राम मंदिर निर्माण शुरू हुआ। भाजपा कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करते हुए शाह ने कहा, 2022 में हम गोवा में भी पूर्ण बहुमत से सरकार बनाएंगे। आजादी से पहले और बाद में बनी सभी पार्टियों में भाजपा इकलौती ऐसी पार्टी है जिसकी आत्म एक नेता नहीं बल्कि कार्यकर्ता है। बिना कार्यकर्ता के भाजपा की कल्पना ही संभव नहीं। 

About team HNI

Check Also

BSF का एरिया बढ़ा तो कांग्रेस समझाने लगी ‘क्रॉनॉलजी’

केंद्र सरकार के कुछ राज्‍यों बीएसएफ के अधिकारों का दायरा बढ़ाने पर कांग्रेस हमलावर है। …

Leave a Reply