Tuesday , June 25 2024
Breaking News
Home / चर्चा में / Women’s Day: सीएम से लेकर चीफ जस्टिस तक, जानिए भारत के बड़े पदों पर बैठने वाली पहली महिलाएं कौन थी

Women’s Day: सीएम से लेकर चीफ जस्टिस तक, जानिए भारत के बड़े पदों पर बैठने वाली पहली महिलाएं कौन थी

International Women’s Day: दुनियाभर में हर साल 8 मार्च को अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस मनाया जाता है। वूमेंस डे के खास मौके पर महिलाओं के योगदान को सम्मान दिया जाता हैं। वर्तमान समय में देश में महिलाओं का दायरा लगातार बढ़ रहा हैं। वह हर क्षेत्र में प्रगति कर रही हैं। आज शायद ही कोई क्षेत्र है, जिसमें महिलाएं पुरषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर नहीं चल रही हैं। इतिहास में भी कई भारतीय महिलाओं का नाम अंकित हैं, जिन्होंने विभिन्न क्षेत्रों में अपने दम पर इतिहास रचा। आज हम आपको भारत के बड़े पदों पर बैठने वाली पहली महिलाओं के बारे में बताएंगे।

1- पहली महिला राष्टपति- प्रतिभा पाटिल- सन्न 2007 में देश की 12वीं और पहिला महिला राष्ट्रपति पद प्रतिभा पाटिल के नाम रहा। प्रतिभा ने 21 जुलाई 2007 में राष्ट्रपति पद का चुनाव जीता जिसके बाद उन्होंने 25 जुलाई को पद की शपथ ली। उन्होंने बखूबी बड़ी बेबाक से अपने इस कार्यकाल को संभाला था।

2- पहली महिला प्रधानमंत्री- इंदिरा गांधी- राजनीति में एक खास पहचान बनाने वाली इंदिरा गांधी देश की पहली प्रधानमंत्री रही। पंडित जवाहरलाल नेहरू की इकलौती औलाद ने 1966 में देश की पहली महिला प्रधानमंत्री बनी। राजनीतिक जीवन में इंदिरा गांधी ने तीन बार प्रधानमंत्री का पद संभाला। अपने कार्यकाल के दौरान उन्होंने बड़े-बड़े राजनीतिक फैसले लिए।

3- पहली महिला स्पीकर- मीरा कुमार- कांग्रेस के दिवंगत नेता जगजीवन राम की बेटी मीरा कुमार देश की पहली महिला स्पीकर रहीं। साल 2009 में उन्होंने सासाराम सीट से चुनाव जीता। मीरा को लोकसभा स्पीकर के तौर पर चुना गया। वो देश की पहली दलित महिला स्पीकर बनी।

4- देश की पहली महिला कैबिनेट मंत्री- राजकुमारी अमृत कौर- आजाद देश की पहली महिला कैबिनेट मंत्री बनीं। जवाहरलाल नेहरू के नेतृत्व में बने इस पहले मंत्रिमंडल में कैबिनेट मंत्री के तौर पर शामिल की गई थी। लखनऊ में जन्मी राजकुमारी अमृत अपने निधन तक राज्यसभा की सदस्य बनी रही थीं।

5- देश की पहली महिला मुख्यमंत्री- सुचेता कृपलाणी- ये वो नाम है जिन्होंने साल साल 1963 में उत्तर प्रदेश राज्य की मुख्यमंत्री पद का कार्यकाल संभाला। बंगाल के एक ब्रह्माण परिवार में जन्म लेने वाली सुचेता के कार्यकाल में कर्मचारी हड़ताल पर चले गए थे। 62 दिनों तक चलने वाला ये हड़ताल वेतन वृद्धि को लेकर था जिसके चलते उन पर काफी दबाव था। सुचेता साल 1967 तक उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री बनी रहीं।

6- देश की पहली महिला राज्यपाल- सरोजिनी नायडू- देश की पहली महिला राज्यपाल सरोजिनी नायडू रही। उन्होंने साल 1947 से 1949 तक उत्तर प्रदेश की गवर्नर रहीं।

7- देश की पहली महिला आईएएस- अन्ना रजम मल्होत्रा- देश को आजादी मिलने के बाद पहली महिला आईएएस पद की कमान अन्ना रजम मल्होत्रा ने संभाली। साल 1927 की जन्मी अन्ना रजम केरल के एरानाकुलम में हुआ था। 1950 में उन्होंने सिविल सेवा में बैठने का फैसला किया. साल 1951 में उन्होंने इंटरव्यू दिया जिसमें वो चुनी गई।

8- देश की पहली आईपीएस- किरण बेदी- देश की पहली आईपीएस के तौर पर किरण बेदी को जाना जाता है। जो कुछ दिनों पहले तक पुद्दुचेरी की लेफ्टिनेंट गवर्नर थीं। साल 1994 में उन्हें रमन मैग्सेसे पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।

9- देश की पहली महिला नियायाधीन- फातिमा बीबी जब देश में पहली महिला सर्वोच्च न्यायालय की न्यायधीश का जिक्र होता है तो एम फातिमा बीबी का नाम आथा है। 1927 की जन्मी फातिमा ने एक मुस्लिम परिवार में जन्म लिया था।

10- देश की पहली महिला पायलट- सरला ठकराल- वो पहली महिला है जिन्होंने विमान उड़ाया था। साल 1936 में लाहौर हवाई अड्डे पर उन्होंने जिप्सी मॉथ विमान चलाया था। उस दौरान सरला की 4 साल की बेटी थी जिन्होंने साबित कर दिया था कि महिला अगर चाहे तो अपने घर के साथ-साथ अपने सपनों को भी पूरा कर सकती हैं।

About team HNI

Check Also

पीएम मोदी के किन नेताओं को मिली हार, किसके हाथ लगी जीत, जानिए एक क्लिक में यहाँ…

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के नतीजे काफी हद तक साफ हो चुके हैं। 543 सीटों …

Leave a Reply