Wednesday , May 18 2022
Breaking News
Home / चर्चा में / घूसखोर अफसर के घर से मिला 4 करोड़ कैश, बोला- 1 हजार करोड़ का आदमी हूं, तुम मेरा क्या बिगाड़ लोगे?

घूसखोर अफसर के घर से मिला 4 करोड़ कैश, बोला- 1 हजार करोड़ का आदमी हूं, तुम मेरा क्या बिगाड़ लोगे?

जयपुर। भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) की टीम ने बायोफ्यूल प्राधिकरण के प्रोजेक्ट डायरेक्टर सुरेंद्र सिंह राठौड़ को रिश्वत के आरोप में गिरफ्तार किया। डायरेक्टर के लिए संविदाकर्मी ने 5 लाख रुपए की रिश्वत ली। गिरफ्तारी के बाद डायरेक्टर ने एसीबी अधिकारियों को धमकाते हुए कहा- 1 हजार करोड़ का आदमी हूं। तुम लोग मेरा क्या बिगाड़ लोगे?
एसीबी टीम ने डायरेक्टर के फ्लैट-घर पर सर्च किया। घर से इतना कैश मिला कि नोट गिनने की मशीन लानी पड़ी। 10 मशीनों से रात करीब साढ़े ग्यारह बजे तक 4 करोड़ कैश की गिनती हो चुकी थी। प्रॉपर्टी के दस्तावेज मिले हैं। सहकार मार्ग स्थित फ्लैट से 50 से अधिक महंगी शराब की बोतलें मिली हैं। जिन्हें ज्योति नगर पुलिस ने आबकारी एक्ट के तहत जब्त कर लिया है।
एसीबी के एएसपी नरोत्तम वर्मा ने बताया कि बायोफ्यूल प्राधिकरण के प्रोजेक्ट डायरेक्टर सुरेंद्र सिंह राठौड़ परिवादी से बायोफ्यूल के व्यापार को निर्बाध रूप से चलने देने और लाइसेंस नवीनीकरण के लिए 20 लाख रुपए की मासिक बंधी के रूप में रिश्वत की डिमांड कर रहे थे। इसमें 15 लाख रुपए बायोफ्यूल के व्यापार को लगातार चलने देने और 5 लाख लाइसेंस के नवीनीकरण की बंदी शामिल है। रिश्वत नहीं देने पर लगातार परिवादी को परेशान किया जा रहा था।

इससे परेशान होकर परिवादी ने इसकी शिकायत एसीबी मुख्यालय में दर्ज कराई। एसीबी की टीम ने मामले का सत्यापन कराया। राठौड़ ने परिवादी को 20 लाख रुपए में से 5 लाख की रिश्वत की राशि लेकर अपने दफ्तर बुलाया। 5 लाख की यह रिश्वत की राशि राठौड़ ने अपने संविदा कर्मी देवी शर्मा के मार्फत ली।
एसीबी एडीजी दिनेश एमएन ने बताया कि डायरेक्टर के घर पर कई मकानों के दस्तावेज भी मिले हैं। एसीबी के अधिकारी अभी भी मकान में सर्च कर रहे हैं। राठौड़ के घर से अकूत संपत्ति मिली है। एसीबी को वैशाली नगर क्वींस रोड गांधी पार्क में एक प्लॉट, कालवाड रोड में एक प्लॉट, लग्जरी गाड़ी भी मिली है। इसमें जगुआर, फॉर्चूनर, थार जैसी लग्जरी गाड़ियां शामिल हैं। वैशाली नगर के कुबेर कॉम्प्लेक्स में शॉप के कागजात भी मिले हैं।
खास बात यह कि जब कार्रवाई चल रही थी, तब सुरेंद्र सिंह ने एसीबी के अधिकारियों पर धौंस जमाते हुए कहा कि वह एक हजार करोड़ का आदमी है। उसका वो कुछ नहीं बिगाड़ सकते। एसीबी ने जब सुरेन्द्र को ट्रैप किया तो बोला- उसके साथ साजिश हुई है, जिसका वह जल्द खुलासा करेगा। राठौड़ के कार्यालय में पूर्व चीफ सेक्रेट्री (सीएस) डीबी गुप्ता से मिला प्रशस्त्रि पत्र और सीएम से सम्मानित होने का फोटो लगा था जो चर्चा का विषय बना रहा।

About team HNI

Check Also

चारधाम यात्रा-2022 का हुआ औपचारिक शुभारंभ

चारो धामों के लिए 30 वाहनों में 1200 श्रद्धालु हुए रवाना, कैबिनेट मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल …

Leave a Reply