Wednesday , November 30 2022
Breaking News
Home / अंतरराष्ट्रीय / जापान के पूर्व पीएम आबे की गोली मारकर हत्या

जापान के पूर्व पीएम आबे की गोली मारकर हत्या

  • इलेक्शन कैंपेन के दौरान पूर्व सैनिक ने पीछे से दो गोली मारी थी, 6 घंटे बाद दम तोड़ा

टोक्यो। जापान के पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो आबे की आज शुक्रवार सुबह गोली मारकर हत्या कर दी गई। आबे नारा शहर में एक इलेक्शन कैंपेन के दौरान भाषण दे रहे थे। 42 साल के हमलावर ने उन पर पीछे से फायरिंग की। आरोपी को मौके पर गिरफ्तार कर लिया गया। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक आरोपी का नाम यामागामी तेत्सुया है और वो आबे की नीतियों से नाखुश था।
दो गोलियां लगने के फौरन बाद आबे गिर पड़े। उन्हें हेलीकॉप्टर से नारा मेडिकल यूनिवर्सिटी हॉस्पिटल ले जाया गया। 6 घंटे तक मेडिकल टीम ने उन्हें बचाने की कोशिश की। बताया जा रहा है कि इलाज के दौरान आबे को दिल का दौरा भी पड़ा। घटना भारतीय समयानुसार सुबह 8 बजे जापान के समय के मुताबिक सुबह 11.30 बजे की है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक ट्वीट में कहा- भारत और जापान के रिश्तों और ग्लोबल पार्टनरशिप में आबे की अहम भूमिका रही। आज पूरे भारत में शोक है। इस मुश्किल वक्त में हम पूरी ताकत के साथ अपने जापानी भाई-बहनों के साथ खड़े हैं।
आबे पर फायरिंग उस वक्त की गई, जब वे चुनावी सभा को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान फायरिंग की आवाज आई और आबे गिर पड़े। बाद में ये साफ हुआ कि उन पर पीछे से फायरिंग हुई। हमलावर यामागामी तेत्सुया को गिरफ्तार कर लिया गया। उसके पास से गन बरामद हुई है। ये किसी टीवी कैमरे की तरह नजर आती है। जापानी मीडिया के मुताबिक हमलावर ने हैंडमेड गन का इस्तेमाल किया। वो मेरीटाइम सेल्फ डिफेंस फोर्स का मेंबर था। शिंजो आबे पर हमला हैंडमेड गन से किया गया। हमलावर ने 2 फायर किए। वह सभा में पत्रकार बनकर पहुंचा था

जापानी मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक गोली लगने के बाद शिंजो को दिल का दौरा भी पड़ा। जापान में अगले रविवार को उच्च सदन के चुनाव होने हैं। शिंजो इसके लिए कैंपेनिंग कर रहे थे। सड़क पर एक छोटी सी सभा थी, जिसमें 100 से ज्यादा लोग शामिल थे। जब आबे भाषण देने आए तो पीछे से एक हमलावर ने गोली चलाई। जो वीडियो सामने आ रहे हैं, उनमें हमले के बाद धुआं दिखाई दिया। इसके बाद अफरा-तफरी मच गई।
शिंजो पर हमला करने के बाद हमलावर ने भागने की कोशिश की। हालांकि मौके पर मौजूद सुरक्षा कर्मियों ने उसे पकड़ लिया। पुलिस आरोपी से पूछताछ कर रही है।
67 साल के शिंजो लिबरल डेमोक्रेटिक पार्टी (एलडीपी) से जुड़े हैं। वर्ष 2006 से 07 के दौरान प्रधानमंत्री रहे। इसके बाद 2012 से 2020 तक 8 साल तक प्रधानमंत्री रहे। उनके नाम सबसे लंबे समय (9 साल) तक PM पद पर रहने का रिकॉर्ड है। इससे पहले यह रिकॉर्ड उनके चाचा इसाकु सैतो के नाम था। आबे को एक आक्रामक नेता माना जाता था। शिंजो को आंत से जुड़ी बीमारी अल्सरट्रेटिव कोलाइटिस थी, इसकी वजह से उन्हें 2007 में प्रधानमंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ा था। उनकी गुजरात और बनारस यात्रा काफी चर्चित रही। 25 जनवरी 2021 को भारत ने आबे को पद्म विभूषण से सम्मानित किया था।

About team HNI

Check Also

सरकार का यू टर्न : माना- रामदेव की दवाओं पर बैन यानी गलती से हुई ‘मिस्टेक’!

अब आयुर्वेद विभाग ने हटाई दिव्य फार्मेसी की पांच दवाओं के उत्पादन पर लगाई गई …

Leave a Reply