देहरादून। इंजीनियरिंग की प्रवेश परीक्षा जेईई मेन एक सितंबर से शुरू होने जा रही है। परीक्षा के लिए पुख्ता तैयारियां की गई हैं। एक परीक्षा केंद्र पर लगे कंप्यूटरों को रोस्टर के हिसाब से इस्तेमाल में लाया जाएगा।
जेईई मेन परीक्षा के तहत बीआर्क और बी प्लानिंग की प्रवेश परीक्षा एक सितंबर और बीई, बीटेक के लिए दो सितंबर से छह सितंबर तक होगी। 
जेईई मेन परीक्षा के दौरान एक कमरे में 12 से ज्यादा उम्मीदवार नहीं बैठ पाएंगे। जेईई मेन कंप्यूटर आधारित परीक्षा है। इसलिए उम्मीदवारों को एक-एक कंप्यूटर छोड़कर बैठाया जाएगा। पहली पाली में जिस कंप्यूटर का इस्तेमाल उम्मीदवार करेगा, दूसरी पाली में आने वाला उम्मीदवार उसका इस्तेमाल नहीं करेगा। बल्कि दूसरे कंप्यूटर का इस्तेमाल किया जाएगा। 
परीक्षार्थियों को परीक्षा केंद्र पर ही मास्क और सैनिटाइजर दिए जाएंगे। अगर जरा भी कोविड की शंका होगी तो अलग से बने आईसोलेशन परीक्षा कक्ष में उन्हें बैठाया जाएगा। जेईई मुख्य परीक्षा में शामिल होने वाले हजारों परीक्षार्थियों की आवाजाही के लिए परिवहन निगम प्रबंधन जिला (देहरादून) मुख्यालय से लेकर परीक्षा केंद्रों तक विशेष बसें संचालित करेगा। परिवहन निगम महाप्रबंधक की ओर से इस संबंध में आदेश भी जारी कर दिए गए हैं। 
महाप्रबंधक दीपक जैन ने बताया कि विशेष बसों का संचालन 31 अगस्त से लेकर छह सितंबर तक किया जाएगा। देहरादून, रुड़की, हरिद्वार, हल्द्वानी में बनाए गए परीक्षा केंद्रों के लिए विशेष बसों का संचालन किया जाएगा। परीक्षार्थियों की सुविधाओं को देखते हुए उनसे बसों में निर्धारित किराया ही लिया जाएगा।