Monday , December 6 2021
Breaking News
Home / उत्तराखण्ड / शिकारियों ने जंगली सूअर पकड़ने के लिए लगाया था फंदा, लेकिन फंस गई मादा गुलदार

शिकारियों ने जंगली सूअर पकड़ने के लिए लगाया था फंदा, लेकिन फंस गई मादा गुलदार

राजधानी से सटे झाझरा क्षेत्र के भाऊवाला गांव के जंगल में जंगली सूअर पकड़ने के लिए लगाए फंदे में मादा गुलदार फंस गई। घायल गुलदार की हुंकार से ग्रामीणों को मामले का पता चला तो सूचना वन विभाग को दी गई।

विभागीय टीम शिकारियों की धरपकड़ में जुटी

वन विभाग की रेस्क्यू टीम ने डेढ़ घंटे की मशक्कत के बाद गुलदार को फंदे से निकाला और इलाज के लिए दून चिड़ियाघर पहुंचाया गया। इलाज के बाद उसे जंगल में छोड़ दिया जाएगा। दूसरी ओर प्रभागीय वनाधिकारी के निर्देश पर अज्ञात शिकारियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है। विभागीय टीम शिकारियों की धरपकड़ में जुट गई है। 

जानकारी के मुताबिक भाऊवाला गांव के ग्रामीण बुधवार सुबह जंगल की ओर गए तो उन्होंने फंदे में मादा गुलदार को फंसे हुए देखा। उसका पैर फंदे में जकड़ा हुआ था जिससे वह बुरी तरह से घायल हो गई थी।

डेढ़ घंटे की मशक्कत के बाद गुलदार को निकाला

फंदे से निकलने के लिए वह छटपटा रही थी। ग्रामीणों ने इसकी सूचना प्रभागीय वनाधिकारी राजीव धीमान को दी। उनके निर्देश पर रेस्क्यू टीम ने डेढ़ घंटे की मशक्कत के बाद उसे फंदे से निकाला और दून चिड़ियाघर रेस्क्यू सेंटर ले गए। वहां डाक्टरों की टीम ने उसका इलाज किया। प्रभागीय वनाधिकारी धीमान के आदेश पर अज्ञात शिकारियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उनकी खोजबीन की जा रही है। 

फंदे में फंसकर जा चुकी है कई गुलदारों की जान

यह पहली बार नहीं है जब शिकारियों के फंदे में गुलदार फंसा हो। इससे पहले राजधानी से सटे कई इलाकों में शिकारियों के लगाए गए फंदे में फंस कर कई गुलदारों की मौत भी हो चुकी है, वहीं कई तेंदुओं को बचाया जा चुका है। 

शिकारी जंगली सूअरों को पकड़ने के चक्कर में फंदे लगा देते हैं और इसमें जंगली सूअर की जगह गुलदार फंस जाते हैं। झाझरा क्षेत्र में बड़ी संख्या में गुलदार पाए जाते हैं जो अक्सर फंदे में फंस जाते हैं।
-राजीव धीमान,प्रभागीय वनाधिकारी  

ये भी पढ़ें..

 नशा मुक्ति केंद्रों पर छापा मारा तो हैरान रह गई टीम

हमसे फेसबुक में जुड़ने के लिए यहाँ click करे

About team HNI

Check Also

महिला समूहों के साथ खड़ी है सरकार : सीएम धामी

रुद्रपुर/देहरादून। महिलाओं और स्थानीय उत्पादों को बढ़ावा देने तथा उन्हें बाजार उपलब्ध कराने के उद्देश्य …

Leave a Reply