मौत की डगर

  • जहरीली शराब से नशेड़ी पति ने तोड़ा दम और सदमे में पत्नी की हार्ट अटैक से मौत
  • अरे दारूबाजों, एक बार जरा इन अनाथ बच्चों में अपने मासूमों की रूह को महसूस तो करो

तरनतारन (पंजाब)। जिले के मुरादपुरा गांव में रहने वाले शराबी सुखदेव सिंह की जहरीली शराब से मौत हो गई। इसी सदमे में उसकी पत्नी ज्योति को दिल का दौरा पड़ गया और उसने भी दम तोड़ दिया। वहीं मां की मौत से अंजान ज्योति के चारों बच्चे सारी रात अपनी मां के शव के साथ ही लिपटे रहे। गौरतलब है कि धतूरे और यूरिया से बनी दारू के कारण 105 शराबियों की मौत हो चुकी है।
विडंबना देखिये कि जहरीली शराब से हुई मौतों के कारण जब श्मशान घाट में स्थान न मिला तो दंपती का अंतिम संस्कार एक ही चिता पर किया गया। बताया गया कि सुखदेव सिंह दिहाड़ी करता था। उसे शराब की बुरी लत थी। इसी कारण उसके घर में कलह रहती थी। गुरुवार को जहरीली शराब पीने से उसकी भी मौत हो गई। आखिर में जिला बाल सुरक्षा अधिकारी की अनुमति से एक युवक ने उन चारों बच्चों को अपने घर में पनाह दी है। उन मासूमों की डबडबाई आंखों में अनाथ होने का अथाह दर्द छलकता नजर आता है।