Monday , August 2 2021
Breaking News
Home / उत्तराखण्ड / सीधे जनता करे जिपं अध्यक्ष और क्षेपं प्रमुखों का चुनाव : दानू

सीधे जनता करे जिपं अध्यक्ष और क्षेपं प्रमुखों का चुनाव : दानू

  • प्रमुख संघ के प्रदेश अध्यक्ष दर्शन दानू ने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला से की उत्तराखंड में पुनः प्रमुख विकास निधि की व्यवस्था बहाल करने की मांग

थराली से हरेंद्र बिष्ट।

प्रमुख संघ के प्रदेश अध्यक्ष एवं देवाल विकासखंड के प्रमुख दर्शन दानू ने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला से जिला पंचायत अध्यक्ष, क्षेत्र पंचायत प्रमुखों का चुनाव पूरे देश में आम जनता से करवाने के साथ ही उत्तराखंड में पुनः प्रमुख विकास निधि की व्यवस्था बहाल किए जाने की मांग की हैं।
राजधानी देहरादून में पंचायती राज संस्थाओं के एक कार्यक्रम में भाग लेने के दौरान प्रमुख दर्शन दानू ने बिरला से एक विशेष भेंट में उत्तराखंड की पंचायती व्यवस्था पर चर्चा की। आज शनिवार को मोबाइल पर दानू ने बताया कि उन्होंने 73वें संविधान संशोधन की व्यवस्था को राज्य में लागू करने, पूरे देश में जिला पंचायत अध्यक्ष एवं ब्लाक प्रमुख का चुनाव सदस्यों के बजाय सीधे आम जनता से करवाने की मांग की हैं। जिससे पंचायत राज और भी मजबूत होकर ग्रामीण विकास में अपनी अहम भूमिका अदा कर सके।

उन्होंने राज्य में पूर्व में तय व्यवस्था प्रमुख विकास निधि को पुनः बहाल करवाने के लिए राज्य सरकार को दिशा-निर्देश दिए जाने की मांग करते हुए कहा कि इससे से ग्रामीण विकास के जरूरी कामों के संपादक में भी गति मिलेगी। दानू ने राज्य में महत्त्वाकांक्षी मनरेगा के संबंध में लोकसभा स्पीकर से चर्चा करते हुए कहा कि इस योजना को कृषि से जोड़ा जाना वक्त की मांग हो गई हैं। पहाड़ी राज्य उत्तराखंड में जंगली जानवरों के कारण किसान कृषि से विमुख होता जा रहा हैं। इसके अलावा भूस्खलन, भूमिकटाव के कारण राज्य में सैकड़ों हैक्टेयर कृषि भूमि नष्ट हो चुकी है। जिनका निराकरण मनरेगा से किया जा सकता हैं। उन्होंने मनरेगा के तहत कुशल मजदूरी एवं सामग्री अंश का भुगतान समय पर करने की आवश्यकता जताते हुए बताया कि अभी तक भी राज्य के कई विकास खंडों में वित्तीय वर्ष 2017-18 का कुशल श्रमिक अंश एवं मेटीरियल का पंचायतों को भुगतना नहीं हो पाया है। जिसके कारण पंचायत प्रतिनिधियों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा हैं।
दानू ने मनरेगा की कार्ययोजना ऊपर से थोपने के बजाय ग्राम पंचायतों से लेने की मांग करते हुए कहा कि इससे त्रिस्तरीय पंचायतें मजबूत होगी। लोकसभा अध्यक्ष ने सुझाए गये सुझावों पर आवश्यक कार्रवाई का आश्वासन दिया। इस मौके पर चमोली की जिला पंचायत अध्यक्ष रजनी भंडारी, जिपंस आशा धपोला, नमिता रावत, प्रमुख कपकोट गोविंद दानू, रामनगर पुष्पा रावत, बीडीसी पान सिंह गड़िया, हीरा परिहार, आनंद बिष्ट आदि मौजूद थे।

About team HNI

Check Also

दून विवि में हुई अंबेडकर चेयर की स्थापना

राज्यपाल, मुख्यमंत्री और शिक्षा मंत्री ने कार्यक्रम में किया प्रतिभाग देहरादून। आज शुक्रवार को राज्यपाल …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *