पंजाब में कांग्रेस ने शानदार जीत दर्ज की है. इस एतिहासिक जीत के बाद सब के मन में यही सवाल है कि सिद्धू को क्या मिलेगा ? कैप्टन अमरिंदर सिंह तो सीएम बनने जा रहे हैं और पंजाब से लेकर दिल्ली तक इस बात की चर्चा है कि सिद्धू को डिप्टी सीएम बनाया जा सकता है लेकिन खुद अमरिंदर इस पर बोलने को तैयार नहीं हैं.

बताया जाता है कि कांग्रेस में आने से पहले सिद्धू को पार्टी से कोई भरोसा मिला था. वैसे सिद्धू के समर्थक इस बात से इनकार कर रहे हैं लेकिन मामला डिप्टी सीएम पर आकर फंसता दिख रहा है.

सिद्धू को डिप्टी सीएम बनाने में कांग्रेस के सामने पहली दिक्कत ये है कि सीएम अमरिंदर भी उसी मालवा से आते हैं जिससे सिद्धू आते हैं. दूसरी दिक्कत है कि सिद्धू और कैप्टन दोनों पटियाला के ही रहने वाले हैं.

ये दो बड़ी वजह है जिसके चलते डिप्टी सीएम के लिए सिद्धू की राह में मुश्किलें आ सकती हैं. तीसरी वजह सूत्र ये बताते हैं कि खुद अमरिंदर भी किसी को डिप्टी सीएम नहीं बनाना चाहते.

पंजाब में कांग्रेस 77 सीटों पर जीती है. चुनाव से पहले सिद्धू बीजेपी छोड़कर कांग्रेस में आए थे. सिद्धू अमृतसर ईस्ट से पहली बार विधायक बने हैं, इससे पहले वे अमृतसर से सांसद रहे हैं. 2014 में बीजेपी ने उनका टिकट काट कर अरुण जेटली को दिया था लेकिन वे चुनाव हार गए.