Thursday , June 20 2024
Breaking News
Home / चर्चा में / रिटायर्ड कर्नल ने अग्निवीर योजना पर उठाए सवाल, कहा-180 दिन की ट्रेनिंग में कैसे तैयार होंगे बेहतर सिपाही

रिटायर्ड कर्नल ने अग्निवीर योजना पर उठाए सवाल, कहा-180 दिन की ट्रेनिंग में कैसे तैयार होंगे बेहतर सिपाही

नई दिल्ली। भारतीय सेना में भर्ती होने के लिए शुरु की गई ‘अग्निपथ’ योजना पर सवाल उठने लगे हैं। इसकी वजह पिछले दो सप्ताह में देश के दो अग्निवीरों की शहादत होना है। कांग्रेस पार्टी के एक्ससर्विस मैन विभाग के चेयरमैन कर्नल रोहित चौधरी ने कहा कि केंद्र सरकार देश की सुरक्षा प्रणाली के साथ बार-बार खिलवाड़ कर रही है। मात्र 180 दिन की ट्रेनिंग में युद्ध क्षेत्र के बेहतर सिपाही कैसे तैयार हो सकते हैं? अग्निपथ योजना, भारत के वीरों के अपमान की योजना है। शहादत के बाद सिपाही के परिवार को पेंशन देने का प्रावधान तक नहीं है। चौधरी ने सरकार से मांग की है कि अग्निवीरों को नियमित सैनिकों की तरह ही सम्मान दिए जाएं।

उन्होंने कहा कि अग्निपथ योजना देश की सुरक्षा प्रणाली के लिए बहुत ही घातक है। यह महत्वपूर्ण मुद्दा है कि क्या अग्निवीर छह महीने की ट्रेनिंग के बाद युद्ध क्षेत्र के बेहतर सिपाही बन पाते हैं। नियमित सिपाही और कई वर्षों की कड़ी ट्रेनिंग के बाद हर परिस्थिति के लिए एक बेहतर सिपाही तैयार हो पाता है। छह महीने की ट्रेनिंग वाले अग्निवीर से क्या हम यह उम्मीद रखें कि वह हर स्थिति के लिए अच्छी तरह से प्रशिक्षित सिपाही होगा। अग्निपथ योजना, देश और युवाओं के लिए हितकारी नहीं है। इसके जरिए केंद्र सरकार ने देश के सैनिकों को दो हिस्सों में बांटने का काम किया है। इसमें एक नियमित सैनिक हैं और दूसरे अग्निवीर हैं। अग्निपथ योजना के नियम व शर्तों से यह बात पूरी तरह साबित हो जाती है।

बता दें कि पिछले दिनों, पंजाब के अग्निवीर अमृतपाल सिंह, जो जम्मू कश्मीर के राजौरी सेक्टर में संतरी ड्यूटी पर तैनात थे, गोली लगने से उनकी मौत हो गई थी। सेना की ओर से कहा गया कि अग्निवीर अमृतपाल सिंह की मौत, सर्विस राइफल से चली गोली के कारण हुई है। सेना ने इस मामले की जांच के आदेश दिए थे। अमृतपाल सिंह का अंतिम संस्कार, सैन्य सम्मान के साथ नहीं किए जाने पर कहा गया कि खुद को पहुंचाई गई चोट से होने वाली मौत के मामले में ऐसा सम्मान नहीं दिया जाता है।

About team HNI

Check Also

पीएम मोदी के किन नेताओं को मिली हार, किसके हाथ लगी जीत, जानिए एक क्लिक में यहाँ…

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के नतीजे काफी हद तक साफ हो चुके हैं। 543 सीटों …

Leave a Reply