Sunday , October 2 2022
Breaking News
Home / उत्तराखण्ड / यूकेएसएसएससी पेपर लीक केस : थाईलैंड में होटल और आलीशान जिंदगी का शौकीन है मास्टर माइंड!

यूकेएसएसएससी पेपर लीक केस : थाईलैंड में होटल और आलीशान जिंदगी का शौकीन है मास्टर माइंड!

देहरादून। यूकेएसएसएससी पेपर लीक केस के मास्टर माइंड हाकम सिंह के थाईलैंड में भी होटल होने की खबर है। उत्तरकाशी में फार्म हाउस और अन्य संपत्तियों का मालिक हाकम सिंह आलीशान जिंदगी जीता था। केस में शक के दायरे में आने के बाद वह पांच बार थाईलैंड भी जा चुका है। खबर है कि उसके वहां होटल भी हैं और चार पांच बैंक खाते भी हैं। कुछ ही सालों में उसके पास बेहिसाब संपत्ति कैसे आई, यह भी जांच का विषय हो सकती है।
सूत्रों के अनुसार हाकम ने पूछताछ में बड़े खुलासे किए हैं। हाकम ने देहरादून और यूपी के धामपुर में 55 से 60 अभ्यर्थियों से पेपर हल करवाए थे। इसके बदले उसने हर अभ्यर्थी से 12 से 15 लाख रुपए लिए थे। इससे पता चलता है कि यूकेएसएसएससी पेपर लीक केस में उसने करोड़ों के वारे न्यारे किये थे। सूत्रों के अनुसार हाकम की कुंडली खंगाली जा रही है और देखा जा रहा है कि इससे पहले आयोग द्वारा आयोजित परीक्षाओं में भी हाकम और उसके गुर्गों ने कोई बड़ा खेल तो नहीं करते रहे हैं। एसटीएफ अब तक 18 आरोपियों को गिरफ्तार कर चुकी है।
उत्तराखंड एसटीएफ एसएसपी अजय सिंह के अनुसार हाकम के परिचित उत्तराखंड और यूपी के कुछ अन्य सफेदपोशों के शामिल होने की जानकारी सामने आ रही है। पुख्ता सबूत मिलने के बाद उन सभी की गिरफ्तारी की जाएगी। हाकम सिंह के लेन-देन का हिसाब उत्तरकाशी के राजकीय इंटर कालेज (मोरी) में तैनात व्यायाम शिक्षक तनुज शर्मा रखता था।

यह भी पढ़ेंः यूकेएसएसएससी पेपर लीक मामले में अब भाजपा विधायक से जुड़े तार

उधर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी यूकेएसएसएससी भर्ती घोटाले में किसी भी अपराधी को न छोड़ने की बात कह चुके हैं। धामी ने साफ कहा है कि युवाओं के भविष्य से खिलवाड़ करने वाले किसी भी भ्रष्टाचारी को बख्शा नहीं जाएगा। चाहे कोई कितना भी ताकतवर क्यों न हो, उसे जेल की सलाखों के पीछे भेजा जाएगा। आने वाले दिनों में कई और सफेदपोशों के इसमें फंसने की उम्मीद है।
गौरतलब है कि बीते साल 4 और 5 दिसंबर 2021 को स्नातक स्तरीय परीक्षा आयोजित हुई थी। इसी साल 24 जुलाई को उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग में फर्जीवाड़े को लेकर बड़ा खुलासा हुआ था। इस मामले में उत्तराखंड एसटीएफ की टीम 18 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है. जिनमें परीक्षा करवाने वाली कंपनी के टेक्निकल स्टाफ, आयोग के होमगार्ड, कोचिंग संचालक और कुछ मुन्नाभाई शामिल हैं। सचिवालय में तैनात अपर सचिव भी और उत्तरकाशी के जिला पंचायत सदस्य हाकम सिंह को भी गिरफ्तार किया गया है। इस मामले में उठ रहे तमाम सवालों के बीच चयन आयोग के अध्यक्ष एस राजू इस्तीफा दे चुके हैं।

About team HNI

Check Also

धामी ने लोनिवि, एनएच और बीआरओ को पढ़ाया पाठ

देहरादून। आज सोमवार को मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने लोक निर्माण विभाग, एनएच और बीआरओ …

Leave a Reply