देहरादून। पहाड़ों में भारी बारिश के कारण मलबा आ जाने से बंद 117 सड़कें शनिवार तक खोल दी गई हैं, लेकिन आज रविवार को भी 210 सड़कें बंद पड़ी हैं।
शनिवार को भी कुछ सड़कों में मलबा आ जाने से यातायात बाधित हुआ। लोक निर्माण विभाग की रिपोर्ट के अनुसार बीते शनिवार को चार नेशनल हाईवे, सात स्टेट हाईवे, आठ मुख्य जिला मार्ग तीन अन्य जिला मार्ग बाधित हुए। सबसे अधिक 82 ग्रामीण मार्ग और 106 पीएमजीएसवाई की सड़कें अब भी बंद हैं। इन सड़कों को खोलने के लिए 305 मशीनें लगाई गई हैं।
बदरीनाथ हाइवे क्षेत्रपाल , तोताघाटी और पगलनाला में अभी भी अवरुद्ध है। पिनोला में तीन दिन बाद हाईवे खुला है। लेकिन आवाजाही बेहद खतरनाक बनी हुइ है। लोग जान जोखिम में डालकर यहां पर पैदल आवाजाही कर रहे हैं। बता दें कि यहां हाईवे बंद होने से फंसे करीब 80 वाहनों में सवार यात्री और लोग हाईवे खुलने का इंतजार कर रहे थे। वहीं, श्रीनगर में तोताघाटी में ऋषिकेश-बदरीनाथ हाईवे सातवें दिन भी बंद है। 
ऋषिकेश-बदरीनाथ हाईवे तोताघाटी में बंद होने से लोगों को वाया मलेथा-चंबा-नरेंद्रनगर होते हुए ऋषिकेश और देहरादून जाना पड़ रहा है। यह मार्ग आवाजाही के लिए काफी लंबा पड़ रहा है। वहीं कौड़ियाला के समीप सिंगटाली में भी शनिवार सुबह हाईवे बंद हो गया। पीडब्लूडी के सहायक अभियंता बीएन द्विवेदी ने बताया कि तोताघाटी में मौसम खराब होने से काम प्रभावित हुआ है।
मौसम विभाग ने उत्तराखंड के कई जिलों में आज भी बारिश के आसार जताए हैं। विभाग के अनुसार, उत्तरकाशी, पौड़ी, चमोली, पिथौरागढ़, अल्मोड़ा, नैनीताल, रुद्रप्रयाग और बागेश्वर जिले में कहीं-कहीं बारिश के आसार हैं।