Saturday , December 10 2022
Breaking News
Home / उत्तराखण्ड / कांवड़ियों का ब्लैक संडे : हरिद्वार में हादसों में 6 की मौत, 2 गंभीर

कांवड़ियों का ब्लैक संडे : हरिद्वार में हादसों में 6 की मौत, 2 गंभीर

हरिद्वार। यहां कांवड़ियों की संख्या बढ़ने के साथ ही पिछले कुछ घंटों में अकेले कनखल थाना क्षेत्र में 5 कांवड़ियों की दुर्घटना में दर्दनाक मौत हो गई। ये सभी कांवड़िये दूसरे प्रदेशों से हरिद्वार में जल भरने आए थे।पुलिस के मुताबिक पहली घटना बैरागी कैंप क्षेत्र में हुई जहां पार्क में खड़े ट्रक को चालक द्वारा लापरवाही से बैक करते हुए दो कांवड़ियों को कुचल दिया। जिससे दोनों की मौके पर ही मौत हो गई। मरने वाले कांवड़ियों की पहचान सोनीपत हरियाणा निवासी योगेश और दिव्यांशु के रूप में हुई है।दूसरा हादसा कनखल थाना क्षेत्र के ही प्रेम नगर आश्रम पुल के पास हाईवे पर हुआ। जहां बाइक सवार तीन कांवड़ियों ने तेज गति में ऑटो को पीछे से टक्कर मार दी। टक्कर इतनी जबरदस्त थी कि बाइक के परखच्चे उड़ गए और तीनों गंभीर रूप से घायल हो गए। इस दौरान अन्य कांवड़ियों ने उन तीनों कांवड़ियों को एंबुलेंस से अस्पताल पहुंचाया, लेकिन रास्ते में ही एक कांवड़िये ने दम तोड़ दिया। अन्य दोनों कांवड़ियों की गंभीर हालत को देखते हुए चिकित्सकों ने तत्काल हायर सेंटर रेफर किया। लेकिन उपचार के दौरान उन दोनों ने भी दम तोड़ दिया।पुलिस के अनुसार दुर्घटना में मारे गए एक कांवड़िए की ही पहचान हो पाई है, जो कौशांबी उत्तर प्रदेश का रहने वाला विनय बताया जा रहा है। जबकि उसके साथ सवार अन्य दोनों मृतकों के सिर्फ नाम की जानकारी मिल पाई है। इनमें एक का नाम रजनीश और दूसरे का राहुल बताया गया है।उधर रुड़की क्षेत्र में पहला हादसा भगवानपुर-ईमलीखेड़ा बाईपास मार्ग पर हुआ। जहां यमुना विहार, भजनपुरा दिल्ली निवासी दो कांवड़िये बाइक से हरिद्वार गंगाजल लेने जा रहे थे। इस दौरान भगवानपुर-इमलीखेड़ा बाईपास मार्ग पर दरियापुर में पेट्रोल पंप के सामने अनियंत्रित होकर बाइक रपट गई। हादसे में देवराज और राहुल घायल हो गए। मौके पर पहुंची पुलिस ने घायलों को 108 से रुड़की सिविल अस्पताल भिजवाया। चिकित्सकों ने देवराज की हालत को गंभीर देखते हुए हायर सेंटर रेफर कर दिया। वहीं लंढौरा स्थित एक कांवड़िए को किसी अज्ञात वाहन ने टक्कर मारकर घायल कर दिया। घायल को रुड़की सिविल अस्पताल भिजवाया गया, जहां पर चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। हालांकि अभी तक मृतक कांवड़िये की शिनाख्त नहीं हो पाई थी।

About team HNI

Check Also

सरकार का यू टर्न : माना- रामदेव की दवाओं पर बैन यानी गलती से हुई ‘मिस्टेक’!

अब आयुर्वेद विभाग ने हटाई दिव्य फार्मेसी की पांच दवाओं के उत्पादन पर लगाई गई …

Leave a Reply