Wednesday , June 16 2021
Breaking News
Home / उत्तराखण्ड / दून : 24 घंटे में दूसरे संक्रमित की मौत, अब तक कोरोना ने ली 13 मरीजों की जान

दून : 24 घंटे में दूसरे संक्रमित की मौत, अब तक कोरोना ने ली 13 मरीजों की जान

कोरोना का कहर जारी

  • अस्सी वर्षीय बुजुर्ग को सांस की दिक्कत होने से जोगीवाला स्थित कैलाश अस्पताल में कराया गया था भर्ती
  • इससे पहले शनिवार को जिस आढ़ती की हुई थी मौत, वह शुगर, बीपी और निमोनिया से भी था पीड़ित
  • दबी जुबान में स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी
  • भी जता रहे देहरादून में सामुदायिक संक्रमण की आशंका  

देहरादून। राजधानी में 24 घंटे के अंदर आज रविवार को दूसरे कोरोना संक्रमित मरीज की मौत हो गई है। वहीं प्रदेश में अब तक 13 संक्रमित मरीजों की जान जा चुकी है।
शनिवार देर रात को दून अस्पताल में भर्ती कोरोना पॉजीटिव आढ़ती की मौत के बाद आज रविवार सुबह एक 80 वर्षीय बुजुर्ग की मौत हो गई। कोरोना के स्टेट को-ऑर्डिनेटर एवं राजकीय दून मेडिकल अस्पताल के डिप्टी एमएस डॉ. एनएस खत्री ने इसकी पुष्टि की है। उन्होंने रविवार को बताया कि बुजुर्ग को सांस की दिक्कत होने के कारण जोगीवाला स्थित कैलाश अस्पताल में भर्ती कराया गया था। डॉक्टरों ने उपचार शुरू करने के साथ ही उनका सैंपल कोरोना जांच के लिए भी भेजा था। इस दौरान शनिवार देर रात बुजुर्ग की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी।
आनन-फानन में कैलाश अस्पताल प्रबंधन ने मरीज को एंबुलेंस से दून अस्पताल पहुंचाया। लेकिन यहां कुछ ही देर में उपचार के दौरान मरीज की मौत हो गई। उन्होंने बताया कि मरीज के शव को दून अस्पताल की मोर्चरी में रखा गया है। जिसका कोविड की गाइडलाइन के अनुसार ही अंतिम संस्कार किया जाएगा।
गौरतलब है कि शनिवार रात को ही दून अस्पताल में भर्ती एक कोरोना संक्रमित आढ़ती की मौत भी हो गई थी। निरंजनपुर सब्जी मंडी के 48 वर्षीय आढ़ती और उसके छह परिजन की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। सभी को 26 मई को दून अस्पताल में भर्ती कराया गया था। डिप्टी एमएस डॉ. एनएस खत्री ने बताया कि तबीयत बिगड़ने पर आढ़ती को चार दिन पूर्व आईसीयू में शिफ्ट किया गया था। शनिवार रात उनकी हार्ट अटैक से मौत हो गई। मरीज को उन्हें शुगर, बीपीऔर निमोनिया भी था। शव मोर्चरी में रखवा दिया गया है।
नियमों के अनुसार रविवार को उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा। वहीं परिवार के अन्य सदस्यों को जाखन स्थित एक पेड क्वारंटीन होटल में शिफ्ट किया गया था। इनमें आढ़ती की 42 वर्षीया पत्नी और 14 साल व साढ़े छह साल की बेटियां भी शामिल हैं। मौत की सूचना पर परिजन शव के दर्शन करना चाहते थे, लेकिन गाइडलाइन के मुताबिक उन्हें अनुमति नहीं दी गई।
निरंजनपुर सब्जी मंडी में लगातार आढ़तियों, अन्य कर्मचारियों और उनके परिवारों में कोरोना संक्रमण होने के बावजूद मंडी को समय से बंद न करने पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं। दबी जुबान में स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी देहरादून में सामुदायिक संक्रमण की आशंका भी जता रहे हैं। फिलहाल डीएम डॉ आशीष श्रीवास्तव के आदेश पर निरंजनपुर सब्जी मंडी को 11 जून तक पाबंद किया जा चुका है

loading...

About team HNI

Check Also

शाबाश! निहारिका 1000 सैल्यूट

कोरोना संक्रमित ससुर को पीठ पर उठाकर दो किमी अस्पताल ले गईअपनों को कंधा न …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *