Wednesday , November 30 2022
Breaking News
Home / उत्तराखण्ड / कर्णप्रयाग-ग्वालदम हाईवे बंद, कई अभ्यर्थियों की परीक्षा छूटी

कर्णप्रयाग-ग्वालदम हाईवे बंद, कई अभ्यर्थियों की परीक्षा छूटी

चमोली। बीते शनिवार की देर रात से हो रही मूसलाधार बारिश के चलते जिले में नदी नाले उफान पर हैं। जिससे क्षेत्र में जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है। आज रविवार को कर्णप्रयाग-ग्वालदम राष्ट्रीय राजमार्ग 3 जगहों पर अवरुद्ध होने से पिंडर घाटी की लाइफ लाइन कही जाने वाली सड़क क्षतिग्रस्त हो गई है।राष्ट्रीय राजमार्ग पर हरमनी, नलगांव और पंती के समीप मलबा आने से राजमार्ग बाधित चल रहा है। वहीं ग्रामीण क्षेत्रों को जोड़ने वाली सड़कें भी भारी बारिश के चलते अवरुद्ध हो रही है। कर्णप्रयाग-ग्वालदम राष्ट्रीय राजमार्ग हरमनी में 5 घंटे से बंद है। पंती से लोल्टी के बीच बीआरओ की मशीन खराब पड़ी है। उधर कई अभ्यर्थियों को परीक्षा देने के लिए गोपेश्वर मुख्यालय जाना था, लेकिन मार्ग बंद होने से वे रास्ते में ही फंसे हुए हैं।बीआरओ के सहायक अभियंता प्रदीप कुमार ने बताया कि हरमनी के पास हाईवे अवरुद्ध है. ग्वालदम से जेसीबी मशीन मंगाई गई है। मशीन आने के बाद अवरुद्ध हाईवे को खोलने का काम शुरू किया जायेगा। हालांकि भारी बारिश के बीच बदरीनाथ हाईवे खोल दिया गया है। कर्णप्रयाग- रानीखेत राष्ट्रीय राजमार्ग अभी बंद है।कपीरी पट्टी के कमोली गांव में भूस्खलन से एक गौशाला जमींदोज हो गई है, जिसके अंदर दो मवेशियों की मलबे में दबने से मौत हो गई और एक मवेशी को ग्रामीणों ने मलबे से बाहर निकाल लिया। उधर बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग बेनाकुली और पागलनाले में मलबा आने से अवरुद्ध चल रहा है। कर्णप्रयाग- रानीखेत राष्ट्रीय राजमार्ग सिमली के पास बंद पड़ा है। पागलनाले पर मार्ग को खोले जाने का कार्य जारी है। हाईवे के दोनों ओर वाहनों की लंबी कतारें लग गई है। जनपद में अभी भी बारिश जारी है।

About team HNI

Check Also

सरकार का यू टर्न : माना- रामदेव की दवाओं पर बैन यानी गलती से हुई ‘मिस्टेक’!

अब आयुर्वेद विभाग ने हटाई दिव्य फार्मेसी की पांच दवाओं के उत्पादन पर लगाई गई …

Leave a Reply