Monday , April 22 2024
Breaking News
Home / उत्तराखण्ड / उत्तराखंड : संविदा खेल प्रशिक्षकों का मानदेय वृद्धि, जानें किन श्रेणियों में मिलेगा लाभ

उत्तराखंड : संविदा खेल प्रशिक्षकों का मानदेय वृद्धि, जानें किन श्रेणियों में मिलेगा लाभ

देहरादून। उत्तराखंड खेल विभाग में संविदा पर तैनात खेल प्रशिक्षक लंबे समय से मानदेय बढ़ाने की मांग कर रहे थे। इसके बाद अब उत्तराखंड सरकार ने संविदा खेल प्रशिक्षकों को बड़ी सौगात देते हुए मानदेय को बढ़ा दिया है। खेल विभाग में संविदा पर कार्यरत खेल प्रशिक्षकों का मानदेय 10 से 25 हजार रुपये तक बढ़ा दिया गया है। मानदेय में 78 से लेकर 140 प्रतिशत तक की वृद्धि की गई है। विशेष प्रमुख सचिव अभिनव कुमार ने इस संबंध में आदेश जारी किया है।

आदेश में कहा गया कि मानदेय की संशोधित दरें एक अक्तूबर 2023 से लागू होगी। खेल विभाग में संविदा पर कार्यरत खेल प्रशिक्षक वर्ष 2014 से मानदेय में वृद्धि की मांग कर रहे थे। अखिल भारतीय अंतर विश्वविद्यालय प्रतियोगिता में प्रतिभाग और सीनियर नार्थ जोन में प्रतिभाग कर चुके खिलाड़ी रहे संविदा प्रशिक्षक मात्र पांच हजार रुपये महीना मानदेय पा रहे थे।

पहली श्रेणी में अर्जुन अथवा द्रोणाचार्य पुरस्कार प्राप्त, ओलिंपिक, विश्व कप में प्रतिभाग करने वाले खिलाड़ी, राष्ट्रमंडल व एशियाई खेलों के पदक विजेता होने के साथ ही एनआइएस से नियमित पाठ्यक्रम का प्रशिक्षण प्राप्त करने वाले डिप्लोमाधारी खिलाड़ी व प्रशिक्षकों को रखा गया है। इन्हें 45 हजार रुपये मानदेय दिया जाएगा।

दूसरी श्रेणी में एशियाई, राष्ट्रमंडल के पदक विजेता खिलाड़ी व प्रशिक्षक, एशियाई व राष्ट्रमंडल खेलों में हिस्सा लेेने वाले ऐसे खिलाड़ी व प्रशिक्षक, जिन्होंने एनआइएस का डिप्लोमा किया है, को शामिल किया गया है। इन्हें 35 हजार रुपये मानदेय दिया जाएगा।

तीसरी श्रेणी में एशियाई व राष्ट्रमंडल खेलों में हिस्सा लेने वाले खिलाड़ी, अन्य अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में हिस्सा लेने वाले खिलाड़ी और एनआइएस से नियमित प्रशिक्षण प्राप्त करने वाले डिप्लोमाधारियों को शामिल किया गया है। इन्हें 25 हजार रुपये मानदेय दिया जाएगा।

चौथी श्रेणी में सीनियर नेशनल प्रतियोगिता में पदक विजेता खिलाड़ी व प्रशिक्षकों को रखा गया है। इन्हें 20 हजार रुपये मानदेय दिया जाएगा।

पांचवी श्रेणी में सीनियर वर्ग नेशनल, अखिल भारतीय अंतर विश्वविद्यालय प्रतियोगता में पदक विजेता व अखिल भारतीय प्रतियोगिता में पदक विजेताओं को रखा गया है। इन्हें 15 हजार रुपये मानदेय दिया जाएगा।

छठी श्रेणी में अखिल भारतीय अंतर विश्वविद्यालय प्रतियोगिता में प्रतिभाग, सीनियर नार्थ जोन प्रतियोगिता में प्रतिभाग, जूनियर नेशनल, सब जूनियर नेशनल, नेशनल स्कूल गेम्स के पदक विजेताओं, एनआइएस प्रमाण पत्र धारी, भारतीय सेवा में सर्विसेज, कमांड, अखिल भारतीय पुलिस प्रतियोगिता में पदक विजेता खिलाड़ी व प्रशिक्षकों को शामिल किया गया है। इन्हें 12 हजार रुपये मानदेय दिया जाएगा।

About team HNI

Check Also

चुनावी मौसम में जनता को राहत, कमर्शियल गैस सिलेंडर हुआ सस्ता…

नई दिल्ली। ऑयल मार्केटिंग कंपनियों ने 19 किलोग्राम वाले कमर्शियल सिलेंडर की कीमत में कटौती …

Leave a Reply