Thursday , December 8 2022
Breaking News
Home / अपराध / हरिद्वार : कहीं ई-रिक्शा चालक की हत्या के साथ ही बदमाशों ने ले ली 12 साल के बच्चे की जान!

हरिद्वार : कहीं ई-रिक्शा चालक की हत्या के साथ ही बदमाशों ने ले ली 12 साल के बच्चे की जान!

हरिद्वार। आज शनिवार को पुलिस ने बीती 17 जून को कनखल थाना क्षेत्र में लापता हुए ई-रिक्शा चालक की लूट के बाद हत्या के मामले का खुलासा कर दिया है। इस मामले में पुलिस एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि दूसरा आरोपी पुलिस से बचने के लिए पहले ही एक मामले में जेल जा चुका है पुलिस के लिए ये पूरी तरह के ब्लाइंड केस था। आरोपी के अनुसार हत्या के बाद ई-रिक्शा चालक का शव गंगा में फेंक दिया था।
पुलिस के अनुसार जांच के दौरान सीसीटीवी फुटेज में ई-रिक्शा में आकाश और सागर के साथ रोहित व उसके पड़ोस में रहने वाला 12 साल का एक बच्चा भी नजर आ रहा है। आरोपी ने बताया कि उनकी ई रिक्शा में एक 12 साल का बच्चा भी बैठा था, लेकिन उन्होंने उसे रास्ते में ही उतार दिया था। हालांकि पुलिस आरोपी के बयान की सच्चाई जानने में जुटी है। साथ ही पुलिस इस एंगल पर भी काम कर रही है कि कहीं बदमाशों ने ई रिक्शा चालक की हत्या करने के साथ ही उस बच्चे को भी न मार डाला हो। उस बच्चे की गुमशुदगी 30 जून को दर्ज की गई है और अभी तक इस बच्चे का कुछ पता नहीं चला है।
पुलिस के अनुसार जगजीतपुर निवासी मुन्नी देवी बीती 20 जून को पुलिस चौकी पहुंचकर बताया कि उनका 19 साल का बेटा रोहित ई-रिक्शा चलाता है जो 17 जून की शाम से घर नहीं लौटा है। उसका फोन भी नहीं मिल रहा है. काफी तलाशने के बाद भी उसका कहीं कुछ पता नहीं चला। जगजीतपुर चौकी इंचार्ज खेमेंद्र गंगवार ने टीम बनाकर लापता रोहित की तलाश शुरू की। जिस रूट पर रोहित ई रिक्शा चलाता था, पुलिस ने वहां सीसीटीवी फुटेजों को खंगालना शुरू किया।
इसी बीच पुलिस को हरिद्वार रेलवे स्टेशन के पास से सीसीटीवी की एक फुटेज मिली, जिसमें रोहित दिख गया। सीसीटीवी फुटेज में दिखा कि रोहित की ई-रिक्शा दो युवक सवार हुए। इस फुटेज का पीछा करते हुए पुलिस ने करीब दो दर्जन से ज्यादा सीसीटीवी कैमरों की फुटेज को खंगाला तो पुलिस ने ई-रिक्शा में सवार हुए दोनों युवकों की पहचान कर ली।
ई-रिक्शा में सवार दोनों लोगों की पहचान आकाश निवासी जगजीतपुर और सागर निवासी लक्सर के रूप में हुई। सागर को लक्सर थाना क्षेत्र से गिरफ्तार कर लिया गया, जबकि आकाश एक पुराने मामले में कोतवाली रानीपुर में पेश होकर जेल जा चुका है। सागर की निशानदेही पर लूटा गया ई-रिक्शा, मृतक का मोबाइल और उसके जूते एवं कपड़े भी बरामद हुए है। आरोपी के अनुसार उन्होंने रोहित का शव नीलधारा में बहा दिया था, जिसका अभी तक कुछ पता नहीं चला है।

यह भी पढ़ें- अपडेट… नैनीताल : खाई में पड़े मिले मेडिकल का पेपर देने आये दो सगे भाइयों के शव

पुलिस के अनुसार आरोपियों ने हरिद्वार बस स्टैंड के पास से रोहित की ई-रिक्शा यह कहकर कुछ घंटे के लिए बुक की थी कि उन्हें नीलधारा से बहकर आने वाली लकड़ियों को पकड़कर घर तक पहुंचाना है। जिसके लिए रोहित तैयार हो गया और उनके साथ चला गया। रोहित को लूटने के इरादे से आकाश और सागर उसे कनखल क्षेत्र में गंगा किनारे श्मशान घाट रोड से होते हुए मातृ सदन जगजीतपुर तक लाए और मातृ सदन से आगे कच्चे रास्ते पर इन दोनों ने गंगा किनारे गमछे से उसकी गला घोट हत्या कर दी। हत्या के बाद उसका मोबाइल और ई-रिक्शा लूट कर ले गए और शव को गंगा में बहा दिया इस केस को वर्कआउट करने में पुलिस ने पूरा फोकस लगा दिया और एक ब्लाइंड मर्डर केस का खुलासा किया।
पुलिस के अनुसार सीसीटीवी फुटेज में ई-रिक्शा में आकाश और सागर के साथ रोहित व उसके पड़ोस में रहने वाला 12 साल का एक बच्चा भी नजर आ रहा है. पूछताछ में आरोपी ने बताया कि उनकी ई रिक्शा में वह 12 साल का बच्चा भी बैठा था, लेकिन उन्होंने उसे रास्ते में ही उतार दिया था। अब पुलिस इस एंगल पर भी काम कर रही है कि कहीं बदमाशों ने ई रिक्शा चालक की हत्या करने के साथ ही उस बच्चे को भी न मार डाला हो। इस बच्चे की गुमशुदगी 30 जून को दर्ज की गई है, लेकिन अभी तक इस बच्चे का कुछ पता नहीं चला है।

About team HNI

Check Also

सरकार का यू टर्न : माना- रामदेव की दवाओं पर बैन यानी गलती से हुई ‘मिस्टेक’!

अब आयुर्वेद विभाग ने हटाई दिव्य फार्मेसी की पांच दवाओं के उत्पादन पर लगाई गई …

Leave a Reply