Wednesday , November 30 2022
Breaking News
Home / उत्तराखण्ड / यूकेएसएसएससी पेपर लीक मामले में शिक्षक गिरफ्तार, कई सफेदपोश रडार पर

यूकेएसएसएससी पेपर लीक मामले में शिक्षक गिरफ्तार, कई सफेदपोश रडार पर

देहरादून। उत्तराखंड अधीनस्थ चयन सेवा आयोग (यूकेएसएसएससी) द्वारा 2021 में कराए गए ग्रेजुएट लेवल एग्जाम में हुए पेपर लीक मामले में गिरफ्तारियों का दौर जारी है। पेपर लीक मामले में एसटीएफ ने एक और शिक्षक को गिरफ्तार किया है।
एसटीएफ के मुताबिक लोहाघाट राजकीय प्राथमिक विद्यालय का शिक्षक बलवंत सिंह रौतेला ही वो शख्स है जो शशिकांत का राइट हाथ बनकर रिजॉर्ट में छात्रों को नकल के पेपर मुहैया कराने में शामिल था। एसटीएफ ने कुमाऊं के दो रिजॉर्ट में पेपर लीक से जुड़े मामलों का पर्दाफाश किया है। अब तक पेपर लीक मामले में 29 लोग गिरफ्तार किए जा चुके हैं।
एसटीएफ के अनुसार सामूहिक रूप से पेपर की नकल के लिए कुमाऊं के दो रिजॉर्ट में 50-60 स्टूडेंट एकत्र किये गए थे। जहां पर सभी को नकल कराने में शशिकांत के दाहिने हाथ बलवंत को गहन पूछताछ और पुख्ता सबूतों के आधार पर गिरफ्तार किया गया है। एसटीएफ एसएसपी अजय सिंह के मुताबिक उत्तर प्रदेश के नकल माफिया शशिकांत का दाहिना हाथ कहे जाने वाला शिक्षक बलवंत का सफर कभी एक पीसीओ चलाया करता था। इसके बाद उसने छोटे-मोटे अन्य कार्य करते हुए इलेक्ट्रॉनिक का सामान बेचने का काम भी किया था। फिर लोहाघाट राजकीय प्राथमिक विद्यालय में शिक्षक बन गया। इसी दौरान उसने नकल माफिया शशिकांत के साथ पेपर लीक धंधे में जमकर धन बटोरा। मामले की जांच को लेकर डीजीपी अशोक कुमार ने सख्त कार्रवाई की बात कही है। कई सफेदपोश लोग रडार पर हैं और उनकी गिरफ्तारी तय है।

About team HNI

Check Also

सरकार का यू टर्न : माना- रामदेव की दवाओं पर बैन यानी गलती से हुई ‘मिस्टेक’!

अब आयुर्वेद विभाग ने हटाई दिव्य फार्मेसी की पांच दवाओं के उत्पादन पर लगाई गई …

Leave a Reply