Thursday , December 8 2022
Breaking News
Home / उत्तराखण्ड / यूकेएसएसएससी पेपर लीक केस: मास्टरमाइंड के राइट हैंड ने खोले राज, सैकड़ों नकलची चिन्हित!

यूकेएसएसएससी पेपर लीक केस: मास्टरमाइंड के राइट हैंड ने खोले राज, सैकड़ों नकलची चिन्हित!

देहरादून। उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग (यूकेएसएसएससी) पेपर लीक मामले में एसटीएफ ने नकल माफिया गैंग की अहम कड़ी को गिरफ्तार किया है। सरकारी नौकरियों का सौदागर कहे जाने वाले मास्टरमाइंड के मुख्य साथी तनुज शर्मा को लंबी पूछताछ और पुख्ता सबूतों के आधार पर गिरफ्तार किया गया है। उसके बयान के आधार पर एसटीएफ ने सैकड़ों नकलची अभ्यर्थियों को चिन्हित कर लिया है। ये सभी लोग एक ही क्षेत्र के निवासी हैं। इससे लगता है कि यह घोटाला बहुत बड़ा है और इसमें बड़ा धमाका होने वाला है।
एसटीएफ के मुताबिक गिरफ्तार आरोपी तनुज शर्मा देहरादून के रायपुर चैक का रहने वाला है और वर्तमान में उत्तरकाशी के राजकीय इंटर कॉलेज नेटवाड़ में शिक्षक है। एसटीएफ ने आरोपी को पूछताछ के लिए बुलाया था और उसके बयानों के आधार पर उसे गिरफ्तार कर लिया गया है। तनुज ने पूछताछ में कई अहम राज खोले हैं। जिससे ये भी पता चला है कि उत्तराखंड नकल माफिया के तार उत्तर प्रदेश के शातिर लोगों से भी जुड़े हैं। अब इस पूरे मामले में अंतरराज्यीय नकल माफिया गठ़जोड़ सामने आया है। एसटीएफ का कहना है कि जल्द ही नकल गैंग की पूरी नकेल उनके हाथ में होगी। एसटीएफ की टीमें उत्तर प्रदेश में रवाना हो गई हैं।
गौरतलब है कि यूकेएसएसएससी द्वारा 4 और 5 दिसंबर 2021 को स्नातक स्तरीय परीक्षा आयोजित की गई थी. इस परीक्षा के संपन्न होने के बाद परिणाम जारी हुआ। जिसके बाद बेरोजगार संगठनों एवं कई छात्रों ने सीएम से मिलकर उक्त परीक्षा में हुई अनियमितताओं की जांच के लिए ज्ञापन दिया। पुलिस महानिदेशक उत्तराखंड को इस मामले में तत्काल अभियोग पंजीकृत करने के निर्देश दिए गए।
यूकेएसएसएससी द्वारा स्नातक स्तर की परीक्षा के पेपर लीक मामले में अब तक एसटीएफ ने 17 गिरफ्तारी कर ली है। सबसे खास बात यह है कि अब उत्तराखंड नकल माफियाओं के तार उत्तर प्रदेश के शातिर लोगों से जुड़े हुए हैं जल्द अंतरराज्यीय नकल माफिया गठजोड़ का खुलासा होने की संभावना है।
जानकारी में यह भी सामने आई है कि एसटीएफ उत्तराखंड ने सैकड़ों नकलची अभ्यर्थी चयनित किए हैं जो ज्यादातर एक ही क्षेत्र के निवासी है। 

About team HNI

Check Also

सरकार का यू टर्न : माना- रामदेव की दवाओं पर बैन यानी गलती से हुई ‘मिस्टेक’!

अब आयुर्वेद विभाग ने हटाई दिव्य फार्मेसी की पांच दवाओं के उत्पादन पर लगाई गई …

Leave a Reply