Wednesday , February 21 2024
Breaking News
Home / उत्तराखण्ड / धीरेंद्र शास्त्री के ‘खाली प्लॉट’ वाले बयान पर उत्तराखंड से भेजा गया नोटिस, जानें पूरा मामला

धीरेंद्र शास्त्री के ‘खाली प्लॉट’ वाले बयान पर उत्तराखंड से भेजा गया नोटिस, जानें पूरा मामला

उत्तराखंड/देहरादून। बागेश्वर बाबा अपने बयानों को लेकर अक्सर चर्चा में रहते हैं। बागेश्वर बाबा धीरेंद्र शास्त्री अपने एक बयान को लेकर आलोचकों के निशाने पर आ गए हैं। दरसहल बागेश्वर धाम के पीठाधीश धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री ने 10 जुलाई 2023 से 16 जुलाई 2023 तक ग्रेटर नोएडा में आयोजित एक भागवत कथा में अपने प्रवचन के दौरान कहा कि जो महिलाएं मांग में सिंदूर लगाती हैं और मंगलसूत्र पहनती हैं, वह रजिस्टर्ड प्रॉपर्टी हैं, लेकिन जो महिलाएं मांग में सिंदूर नहीं लगाती और मंगलसूत्र नहीं पहनती हैं, वो खाली प्लॉट हैं।

Uttarakhand

उसी टिप्पणी को लेकर उत्तराखंड की एक महिला ने भी धीरेंद्र शास्त्री को नोटिस भेजा है। महिला ने नोटिस भेजकर धीरेंद्र शास्त्री से सार्वजानिक रूप माफी मांगने के लिए कहा है। महिला ने अपने नोटिस में साफ किया है कि यदि धीरेंद्र शास्त्री ऐसा नहीं करते तो वो उनके खिलाफ कानून कार्रवाई करेगी। चंपावत जिले की रहने वाली तुलसी बिष्ट ने पंडित धीरेंद्र शास्त्री को अपने वकील के माध्यम से एक नोटिस भेजा है। तुलसी बिष्ट ने यह नोटिस सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्ता केके शर्मा से तैयार करवाया है। नोटिस से उन्होंने बागेश्वर धाम के पीठाधीश धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री को लिखा है कि 10 जुलाई 2023 से 16 जुलाई 2023 तक ग्रेटर नोएडा में आयोजित एक भागवत कथा में धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री ने अपने प्रवचन के दौरान कहा कि जो महिलाएं मांग में सिंदूर लगाती हैं और मंगलसूत्र पहनती हैं, वह रजिस्टर्ड प्रॉपर्टी हैं, लेकिन जो महिलाएं मांग में सिंदूर नहीं लगाती और मंगलसूत्र नहीं पहनती हैं, वो खाली प्लॉट हैं।

uttarakhand

तुलसी बिष्ट का कहना कि महिलाओं की प्रति धीरेंद्र शास्त्री का यह बयान अत्यंत निंदनीय और अपमानजनक है। धीरेंद्र शास्त्री को भेजे गए इस नोटिस में कहा गया है कि हिंदू धर्म और पुराणों में महिलाओं का दर्जा देवी के रूप में पूजनीय माना गया है, लेकिन उन्होंने महिलाओं पर इस तरह का बयान देकर हिंदू धर्म की मान्यताओं का अपमान किया है। तुलसी बिष्ट की ओर से कहा गया है कि धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री अपने इस बयान के लिए महिलाओं से 15 दिन के अंदर लिए सार्वजनिक रूप से मांफी मांगें। यदि वो ऐसा नहीं करते तो तुलसी बिष्ट, धीरेंद्र शास्त्री के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करेंगी।

About team HNI

Check Also

सेना में अग्निवीर भर्ती के लिए आवेदन शुरू, पद नाम और चयन प्रक्रिया बदली, जानिए

Agniveer Bharti 2024 : भारतीय सेना में अग्निवीर भर्ती 2014 के लिए ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया …

Leave a Reply