बीजेपी ने राज्यसभा से इस्तीफा देने पर आज बीएसपी सुप्रीमो मायावती को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि उनका यह कदम ‘ड्रामा’ है. इसका मकसद भावुकता पैदा कर ‘भ्रम’ पैदा करना है. बीजेपी महासचिव भूपेंद्र यादव ने कहा कि लोग अब मायावती से गुमराह नहीं होने वाले .

यादव ने कहा कि मायावती जनाधार खो चुकी हैं और राज्यसभा में उनका छह साल का कार्यकाल वैसे भी संसद के अगले सत्र में खत्म होना था. उन्होंने संकेतों में कहा कि मायावती ने ‘‘हताशा’’ में यह कदम उठाया . उन्होंने कहा कि मायावती को सदन में अपना मुद्दा उठाने के लिए आवंटित समय से दोगुना समय दिया गया और यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि उन्होंने उप-सभापति को उचित सम्मान नहीं दिया .

राज्यसभा सांसद यादव ने कहा कि मुद्दे उठाते वक्त मायावती ने संसदीय गरिमा का पालन नहीं किया. उन्होंने कहा कि यह चौंकाने वाला है कि उन्होंने इस्तीफा देना पसंद किया.

यादव ने कहा, ‘‘सवाल है कि उन्होंने ऐसा क्यों किया ? वह जनाधार खो चुकी हैं. हो सकता है वह हताश हों. उनका कार्यकाल वैसे भी अगले सत्र में खत्म होने वाला था.’’ उन्होंने कहा, ‘‘भ्रमित करने के लिए कुछ लोग ड्रामा करके राजनीति में भावुकता पैदा कर रहे हैं. लोग गुमराह नहीं होने वाले.’’