Monday , August 19 2019
Breaking News
Home / राज्य / उत्तराखंड में भी पंजाब फॉर्मूला, महाराज के सामने ताल ठोकेंगे हरदा

उत्तराखंड में भी पंजाब फॉर्मूला, महाराज के सामने ताल ठोकेंगे हरदा

भाजपा उम्मीदवार सतपाल महाराज को कड़ी टक्कर देने के लिए मुख्यमंत्री हरीश रावत चौबट्टा खाल से मैदान में उतर सकते हैं। कांग्रेस के नीति-नियंताओं के बीच इस तरह की चर्चा जोरों पर है।पार्टी के रणनीतिकार उत्तराखंड में भी पंजाब के उस फार्मूले को आजमा सकते हैं, जिसके तहत कैप्टन अमरिंदर सिंह को दो सीटों पर उतारा गया है।

चर्चा के मुताबिक यह भी हो सकता है कि भाजपा स्टाइल में कांग्रेस चौबट्टाखाल से भाजपा विधायक तीरथ सिंह रावत को हाथ के साथ मैदान में उतार दे। दरअसल कांग्रेस, भाजपा को उसके अंदाज में घेरने के लिए उन सीटों पर अधिक सतर्क और मजबूत उम्मीदवार उतारना चाहती हैं, जहां पार्टी छोड़कर गए ‘अपने पुराने’ मैदान में हैं।

खैर, उत्तराखंड को लेकर केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक शुक्रवार के लिए टल गई है। माना जा रहा है कि शुक्रवार को बैठक के बाद कांग्रेस सभी 70 सीटों के उम्मीदवारों की घोषणा कर देगी।

फिलहाल तो उत्तराखंड कांग्रेस उम्मीदवारों की सूची में कई राज छुपे हैं। उत्तराखंड को लेकर कांग्रेस की स्क्रीनिंग और चुनाव समिति की बैठकों में जमकर मंथन हो रहा है। पार्टी के कुछ ऐसे नेता हैं, जिन्हें मांगी गई सीट से हटाकर मजबूत सीट पर टक्कर देने के लिए उतारा जा रहा है।

बाजपुर सीट पर यशपाल आर्य के खिलाफ भी ऐसा कुछ होने जा रहा है। मुख्यमंत्री ने अभी तक अपने पत्ते नहीं खोले हैं कि कहां से चुनाव लड़ेंगे। पार्टी में एक खेमा चाहता है कि पार्टी के बड़े पदाधिकारियों व नेताओं को भाजपा में गए नेताओं के मुकाबले उतारना चाहिए। इसी क्रम में मुख्यमंत्री के सतपाल महाराज के खिलाफ उतरने की बात भी उठी है।पंजाब चुनाव में कांग्रेस ने मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल के खिलाफ पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को लंबी सीट से उतारा है।

कैप्टन इस सीट के साथ पटियाला की अतिरिक्त सीट से भी लड़ रहे हैं। इसी तरह मुख्यमंत्री को लेकर भी चर्चाएं सामने आ रही हैं। कालाढूंगी से अब एआईसीसी के सचिव प्रकाश जोशी को ही मैदान में उतारे जाने की संभावना है।

आलाकमान ने उन्हें चुनाव में जाने को कह दिया है। यही नहीं, आधा दर्जन बाहरियों को पार्टी उम्मीदवार बनाने जा रही है। सियासी संकट में कांग्रेस का साथ देने वाले भीमलाल आर्य को घनसाली और दान सिंह भंडारी को भीमताल से प्रत्याशी बनाया जाना तय है।कांग्रेसी रुड़की में सुरेश चंद जैन को प्रत्याशी बनाए जाने से भी इनकार नहीं कर रहे हैं। दिलचस्प बात यह है कि पुरोला सीट पर पार्टी पूर्व प्रत्याशी राजेश जुवांठा के बजाए भाजपा के बागी राजकुमार पर दांव लगा सकती है।

ऐसे ही कई अन्य सीटों पर भी कांग्रेस भाजपा के उपेक्षित दावेदारों का मन तौल रही है, सब कुछ ठीक रहा तो कांग्रेस की सूची में कुछ चौंकाने वाले नाम हो सकते हैं।

loading...

About team HNI

Check Also

इन्हें खुले में शौच करना पड़ा गया भारी, खाई पड़ी जेल की हवा

शासन की योजनाओं का मखौल उड़ाने व सरकारी आदेशों को नजरअंदाज करना तीन युवकों को …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *