शुक्रवार को विष्णुप्रयाग के नजदीक हाथीपहाड़ में भूस्खलन से बदरीनाथ हाईवे रूट ठप हो गया है। रात भर सैंकड़ों यात्री हाईवे पर फंसे रहे। भूस्खलन के बाद प्रशासन ने लोगों को रास्ते में ही रोक दिया है। पहले खबरें आ रही थी कि 15 हजार से ज्यादा यात्री फंसे हुए हैं, लेकिन मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने साफ कर दिया कि यात्री सुरक्षित हैं। स्थिति चिंताजनक नहीं है। हां यात्रा रुकी हुई है और 1800 यात्री इससे प्रभावित हुए हैं। एनडीआरएफ की टीम राहत कार्य में जुटी है और दावा कर रही है कि आज शाम तक मार्ग खुल जाएगा।

कल दोपहर तीन बजकर 23 मिनट पर हाथीपहाड़ में अचानक चट्टान टूट कर गिरने के बाद हाईवे का 50 मीटर हिस्सा क्षतिग्रस्त हो गया था। यात्रियों को सुरक्षित स्थानों पर ठहराने का बंदोबस्त किया जा रहा है। उनके लिए खान-पान का पूरा इंतजाम है।

उत्तराखंड में पिछले कई दिनों मौसम खराब है और चमोली में हो रही लगातार बारिश ने बदरीनाथ के यात्रियों की मुश्किलें बढ़ा दी है। चमोली जिले में लगातार हो रही बारिश यात्रियों के लिए मुसीबत बन गयी है। जोशीमठ से बदरीनाथ के बीच नेशनल हाईवे पहाड़ी दरकने से बंद हो गया है। लगभग 170 मीटर मार्ग भूस्खलन के कारण बाधित हुआ है।
सड़क खोलने के लिए युद्ध स्तर कार्य शुरु हो गया है। बीआरओ के कमांडर के मुताबिक मार्ग खुलने में दो दिन लग सकते हैं। जबकि जिला प्रशासन कल दोपहर दो बजे तक सड़क खुलवाने का दावा कर रहा है। उधर, इससे बदरीनाथ की यात्रा रुक गई है। सैंकड़ों यात्री फंस गए हैं।
चमोली के डीएम आशीष जोशी ने बताया कि गुरुवार रात को बदरीनाथ क्षेत्र में बारिश हो रही थी। शुक्रवार को मौसम खुल गया। दोपहर बाद करीब साढ़े तीन बजे जोशीमठ से बदरीनाथ के बीच हाथी पहाड़ नाम जगह पर पहाड़ी दरकने लगी। देखते ही देखते मलबा और बड़े-बड़े बोल्डर सड़क पर गिरने लगे। इससे बदरीनाथ हाईवे बंद हो गया। सूचना पर पहुंची बीआरओ की टीम ने मार्ग खोलने का कार्य शुरू कर दिया है। इससे बदरीनाथ की यात्रा रुक गई है।
डीएम के अनुसार बदरीनाथ की यात्रा पर जा रहे और लौट रहे सैंकड़ों यात्री इससे प्रभावित हो गए हैं। उन्होंने कहा कि धाम से लौटने वाले यात्रियों को बदरीनाथ और गोविंदघाट में ठहराया जा रहा है। जबकि बदरीनाथ जा रहे यात्रियों को जोशीमठ में रोका गया है। यात्रियों को जोशीमठ गुरुद्वारे में भी रोका गया है। जिला अधिकारी ने बताया कि यात्रा बाधित हुई है पर कोई चिंता वाली बात नहीं है।

हेल्पलाइ नंबर

0135-2559898
0135-2552626
0135-2552627
और 1364