देहरादून। त्रिवेंद्र सरकार ने एक अहम फैसला लेते हुए लोक सेवा आयोग के सदस्य प्रो. नरेंद्र सिंह भंडारी को सोबन सिंह जीना विश्वविद्यालय के कुलपति बनाने का शासनादेश जारी कर दिया है।
अल्मोड़ा विवि के पहले कुलपति प्रो एनएस भंडारी रसायन विज्ञान विभाग के प्राध्यापक हैं। वे राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के स्वयंसेवक भी रहे हैं। वह अल्मोड़ा विद्यार्थी परिषद नगर अध्यक्ष से लेकर भाजपा प्रबुद्ध प्रकोष्ठ के प्रदेश संयोजक रहे हैं। मूल रूप से नैनी सैनी पिथौरागढ़ निवासी प्रो भंडारी की प्रारंभिक शिक्षा मुंबई व पिथौरागढ़ में हुई है। मिशन इंटर कॉलेज पिथौरागढ़ से इंटर पास किया। जबकि 1983 में पिथौरागढ़ डिग्री कॉलेज से ही स्नातक व स्नातकोत्तर किया। आईआईटी दिल्ली से पीएचडी प्रो भंडारी शोध के दौरान ही 1988 में कुमाऊं विवि में नियुक्त हो गए। उनके 42 शोध पत्र , पांच किताब प्रकाशित हो चुकी हैं। जबकि उनके अधीन आठ शोधार्थी पीएचडी कर चुके हैं, चार कर रहे हैं। वे राष्ट्रीय बाल विज्ञान कांग्रेस भी शामिल रहे।
प्रो. नरेंद्र सिंह भंडारी करीब तीन साल या 65 वर्ष की आयु पूर्ण होने तक इस पद पर बने रहेंगे।