Wednesday , June 26 2024
Breaking News
Home / चर्चा में / अब जेब में ATM कार्ड रखने की जरूरत नहीं, UPI के जरिए कर सकेंगे कैश डिपॉजिट, यहां जानें कैसे

अब जेब में ATM कार्ड रखने की जरूरत नहीं, UPI के जरिए कर सकेंगे कैश डिपॉजिट, यहां जानें कैसे

नई दिल्ली। केंद्रीय रिजर्व बैंक RBI के गवर्नर शक्तिकांत दास ने आज शुक्रवार को मॉनेटरी पॉलिसी के नतीजों की घोषणा की। इसके साथ ही उन्होंने UPI को लेकर भी एक बड़ी घोषणा की। डिजिटल पेमेंट को लगातार बढ़ावा देने की कोशिश में अब UPI Payment की सुविधा को और विस्तार दिया गया है। अब UPI यूजर्स जल्द ही कैश डिपॉजिट मशीन पर यूपीआई के जरिए अपने बैंक अकाउंट में पैसे जमा कर सकेंगे।

शक्तिकांत दास ने कहा कि इस सर्विस से लोगों को बड़ी सहुलियत मिलेगी। कैश जमा करने लिए बैंक नहीं जाना पड़ेगा, साथ ही अगर आपसे बैंक दूर है तो आप यूपीआई के जरिए कैश जमा कर सकेंगे। इसके अलावा PPI (प्रीपेड पेमेंट इंस्ट्रूमेंट्स) कार्डधारकों को भी पेमेंट की सुविधा दी जाएगी। इन लोगों को थर्ड पार्टी के यूपीआई ऐप के जरिये यूपीआई पेमेंट करने की सुविधा देने का भी प्रस्ताव किया गया है।

कार्ड रखने की नहीं कोई जरूरत:- अगर यूपीआई से कैश डिपॉजिट की सुविधा आती है तो आपको जेब में कार्ड रखने की समस्‍या से आजादी मिल सकती है। इससे ATM कार्ड रखने, खोने या बनवाने की समस्‍या भी दूर हो जाएगी, साथ ही अगर आपका ATM कार्ड चोरी भी हो जाता है तो उसे ब्‍लॉक करवाने के बाद भी कैश डिपॉजिट करने में समस्‍याओं का सामना नहीं करना पड़ेगा।

अभी तक कैश डिपॉजिट या निकालने के लिए डेबिट कार्ड का इस्‍तेमाल होता है, लेकिन जब UPI की यह सुविधा आ जाएगी तो आपको डेबिट कार्ड की आवश्‍यकता नहीं होगी। बहुत जल्‍द आरबीआई एटीएम मशीन पर यूपीआई की यह नई सुविधा जोड़ेगी। इसके बाद थर्ड पार्टी ऑनलाइन पेमेंट ऐप के इस्‍तेमाल से आप एटीएम मशीन से UPI के जरिए कैश डिपॉजिट कर सकेंगे।

रेपो रेट में कोई बदलाव नहीं:- RBI गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि वित्त वर्ष 2025 की पहली RBI मौद्रिक नीति बैठक में रेपो रेट को स्थिर रखने का फैसला लिया गया है। केंद्रीय बैंक ने लगातार 7वीं मॉनिटरी पॉलिसी बैठक में रेपो रेट को 6.50 फीसदी पर स्थिर रखा है।

About team HNI

Check Also

पीएम मोदी के किन नेताओं को मिली हार, किसके हाथ लगी जीत, जानिए एक क्लिक में यहाँ…

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के नतीजे काफी हद तक साफ हो चुके हैं। 543 सीटों …

Leave a Reply